Asianet News Hindi

लव जिहाद: 'विकास' निकला 'वसीम', 2 साल से महिला का कर रहा था शोषण..मंदिर जाता..लेकिन बाहर खड़ा रहता

लव जिहाद का यह नया मामला महाकाल की नगरी उज्जैन में देखने को मिला है। जहां एक युवक ने अपना नाम विकास बताकर महिला से दोस्ती की। फिर उससे प्यार का नाटक करके शारीरिक संबंध बनाता रहा।

law on love jihad in mp news case love jihad license discloses real identity ujjain kpr
Author
Ujjain, First Published Dec 20, 2020, 1:38 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन (मध्य प्रदेश). इन दिनों पूरे देश में लव जिहाद के खिलाफ बन रहे कानूनों की चर्चा चल रही है। एक तरफ जहां मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार ने इस मामले को लेकर कमर कस ली है। वहीं उज्जैन में लव जिहाद का एक मामला सामने आया है, जहां एक मुश्लिम युवक अपना नाम बदलकर एक तलाकशुदा हिंदू महिला का 2 साल तक शारीरिक शोषण करता रहा। जब उसकी सच्चाई सामने आई तो युवती यकीन नहीं कर पाई।

सच्चाई पता चलते ही महिला के उड़े होश
दरअसल, लव जिहाद का यह नया मामला महाकाल की नगरी उज्जैन में देखने को मिला है। जहां एक युवक ने अपना नाम विकास बताकर महिला से दोस्ती की। फिर उससे प्यार का नाटक करके शारीरिक संबंध बनाता रहा। जब महिला ने उसका पर्स चेक किया तो उसके होश उड़ गए, क्योंकि  उसमें ड्राइविंग लाइसेंस पर उसका नाम वसीम था।

मंदिर जाता..लेकिन बाहर खड़ा रहता
इस चौंकाने वाली घटना के बाद युवती ने पुलिस के पास जाकर इसकी शिकायत दर्ज करवाई। पीड़िता ने कहा कि दो साल पहले उसकी मुलाकात एक युवक से हुई थी। जिसने अपना नाम विकास बताते हुए नागदा का रहने वाला बताया। इतना ही नहीं वह मेरे साथ रोज मंदिर जाने लगा। लेकिन बहाना बनाकर बाहर खड़ा हो जाता था, जब मैं उससे अंदर नहीं जाने की वजह पूछती तो कहता कि वो मूर्ति पूजा में यकीन नहीं रखता है। इसलिए अंदर नहीं जाता है।

महिला की आपबीती सुन पुलिस भी हैरान
वहीं इस मामले में उज्जैन के एएसपी अमरेन्द्र सिंह ने बताया कि महिला की आपबीती सुनकर युवक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। क्योंकि युवक ने अपना गलत नाम बताकर और सच्चाई छिपाकर उसका दो साल तक शोषण किया है। फिलहाल आरोपी फरार है, हमने टीम बनाकर उसे पकड़ने के आदेश दे दिए हैं।

शिवराज सरकार बनाने जा रही है सख्त कानून
बता दें कि मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार लव जिहाद के खिलाफ कानून बनने जा रही है। जिसका नाम 'धर्म स्वतंत्र अधिनियम 2020' होगा। इसी माह में 28 दिसंबर से शुरू होने जा रहे विधानसभा सत्र में इस विधेयक को पेश पास करा लिया जाएगा। सीएम से लेकर गृह मंत्री इसको लेकर पहले ही घोषणा कर चुके हैं।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios