Asianet News HindiAsianet News Hindi

दिग्विजय सिंह को आखिर ये क्या हो गया! अमित शाह और RSS की तारीफ, सुनने वाले भी चौंक गए...

राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह  (congress leader Digvijay Singh) अक्सर अपने विवादित बयानों के चलते चर्चा में बने रहते हैं। लेकिन इस बार उन्होंने कुछ ऐसा कहा कि जिसे सुनकर कोई उन पर यकीन नहीं कर पा रहा है।

madhya pradesh congress leader digvijaya singh praises  amit shah and rss in bhopal
Author
Bhopal, First Published Sep 30, 2021, 8:32 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल (मध्य प्रदेश). राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह  (congress leader Digvijay Singh) अक्सर अपने विवादित बयानों के चलते चर्चा में बने रहते हैं। लेकिन इस बार उन्होंने कुछ ऐसा कहा कि जिसे सुनकर कोई उन पर यकीन नहीं कर पा रहा है। जब उन्होंने बोलना शुरू किया तो लोग चौंक गए कि आखिर दिग्गी राजा यह क्या बोल रहे हैं। उन्होंने सार्वजनिक मंच से गृहमंत्री अमित शाह और फिर RSS की तारीफ की। कहा कि मैं उनकी मदद को मैं कभी नहीं भूल पाऊंगा।

नर्मदा परिक्रमा के अनुभव सुना रहे थे दिग्विजय सिंह
दरअसल, राजधानी भोपाल में नर्मदा परिक्रमा पर लिखी किताब के विमोचन कार्यक्रम था। इस मौके पर दिग्विजय सिंह पहुंचे हुए थे। इस दौरान वह अपने नर्मदा परिक्रमा के अनुभव सुना रहे थे। उन्होंने कहा कि परिक्रमा के दौरान हर प्रकार की व्यवस्था जानी चाहिए। ताकि परिक्रमा के पड़ाव में किसी को परेशानी नहीं आए।

अमित शाह की मदद को कभी नहीं भूल सकता हूं
कार्यक्रम के दौरान एक वक्त ऐसा आया जब वह अमित शाह की तारीफ करने लगे। दिग्विजय सिंह ने कहा कि जब में परिक्रमा के दौरान गुजरात से निकल रहा था तो अमित शाह ने मेरी मदद की थी। उन्हंने वन विभाग के अधिकारियों को आदेश देते हुए  रेस्ट हाउस में मेरे रुकने की व्यवस्था कराई थी। साथ ही अधिकारियों से कहा था कि उनकी यात्रा में कोई विघ्न नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं वैसे तो शाह का राजनीतिक तौर पर अलोचक हूं, लेकिन उनकी मदद को नहीं भूल पाऊंगा। हालांकि उनसे कभी मेरी आमने-सामने मुलाकात नहीं हुई है।

संघ की तारीफ करते हुए कहा-(RSS) के लोग  कर्मठ होते हैं...
दिग्विजय सिंह ने अमित शाह के अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि परिक्रमा के दौरान  (RSS) के लोगों ने जगह-जगह पर मेरी मदद की है। जहां भी रुकता था, वह लोग अक्सर मिलने के लिए आते थे। संघ से मेरा विचारों का मेल नहीं है, लेकिन वह मेरी मदद करते थे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि संघ के कार्यकर्ता कर्मठ होते हैं, लेकिन उनकी देश को बांटने वाली बातों का मैं समर्थन नहीं करता हूं।


यह भी पढ़ें-अपनी ही वजह से फिर चर्चा में दिग्विजय सिंह: खुद खोला अपनी कुंडली का राज, बताया उसमें क्या लिखा है...

यह भी पढ़ें-दिग्विजय सिंह का Mathmatics:7 साल बाद हिंदू-मुस्लिम सबकी जनसंख्या बराबर होगी, खतरा तो सिर्फ मोदी-ओवैसी को है

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios