Asianet News Hindi

यहां कोरोना नियम तोड़ने की सबसे अनोखी सजा, 4 घंटे में भरनी होती है 44 पेज की कॉपी फिर दी जाती ये शपथ

 एसपी पंकज कुमावत ने बताया कि ऐसे लोगों को पकड़कर उसी जगह बैठाते हैं। इसके लिए उन्हें कोई कोई पैसा या सजा नहीं भुगतनी पड़ती है। पुलिस उनको उल्टा पेन-कॉपी देती है, इसके बाद  44 पेज की कॉपी पूरी भरवाई जाती है। इस कॉपी में कोरोना गाइडलाइन पर निबंध लिखवाया जाता है। 

madhya pradesh government lockdown guidelines unique punishment to people break corona curfew by police kpr
Author
Sidhi, First Published May 1, 2021, 5:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सीधी (मध्य प्रदेश). कोरोना की दूसरी लहर कहर बरपा रही है। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सरकार से लेकर प्रशासन तक लॉकडाउन से लेकर नाइट कर्फ्यू लगा रखा है। लेकिन कुछ ऐसे भी लापरवाह लोग हैं कि इतना सब करने के बाद कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन कर रहे हैं। हजारों रुपए का चालान लगाने के बाद भी वह बिना काम के घरों से बाहर निकलने में बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे में मध्य प्रदेश के सीधी पुलिस ने नियम तोड़ने वालों को अनोखी सजा दे रही है। जिसने गलती की उसे 4 घंटे में 44 पेज की कॉपी भरनी है। आइए जानते हैं क्या है यह अनोखी सजा...

11 बजे बाद पुलिस ऐसे लोगों को सिखाती है सबक
दरअसल, सीधी जिला प्रसासन ने जिले में कोरोना कर्फ्यू लगाया है। जिसके तहत जरूरी चीजों के लिए सुबह 6 से 11 बजे तक की छूट दी गई है। लेकिन इसके बाद कोई बेवजह घर से निकल रहा है तो पुलिस ऐसे लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ  4 घंटे में 44 पेज की कॉपी भरने की सजा दे रही है।  SP पंकज कुमावत ने कहा कि यह ऐसी सजा है कि जिसमें नियम तोड़ने वालों को  शारीरिक तकलीफ तो नहीं हो रही, लेकिन दिल पर बहुत बड़ा बोझ झेलना पड़ रहा है।

 44 पेज की कॉपी के बाद दिलवाई जाती शपथ
सीधी जिला एसपी पंकज कुमावत ने बताया कि ऐसे लोगों को पकड़कर उसी जगह बैठाते हैं। इसके लिए उन्हें कोई कोई पैसा या सजा नहीं भुगतनी पड़ती है। पुलिस उनको उल्टा पेन-कॉपी देती है, इसके बाद  44 पेज की कॉपी पूरी भरवाई जाती है। इस कॉपी में कोरोना गाइडलाइन पर निबंध लिखवाया जाता है। जिसके लिए 4 घंटे का वक्त दिया जाता है। जब वह कॉफी भर देते हैं तो उनको फिर बीच सड़क पर खड़ा करके शपथ दिलवाई जाती है। ''हम बेवजह अब अपने और परिवार की जान की खातिर घर से नहीं निकलेंगे''।

इस वजह से की इस सजा की शुरूआत
पुलिस का कहना है कि लिस अभी तक 20 हजार से ज्यादा लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर चुकी है। इनसे लाखों रुपए का जुर्माना वसूला जा चुका है। इसके बाद लोग बेवजह बाहर निकलने से बाज नहीं आ रहे हैं। इसिलए हमने लोगों को सजा देने का यह नया तरीका निकाला है। क्योंकि कोई भी 100 या 200 रुपए देकर तुरंत चला जाता है। लेकिन जब उसको 4 घंटे में  44 पेज की कॉपी भरनी होती है तो उसे पता चलता है कि उन्होंने कोई बड़ी गलती की है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios