Asianet News HindiAsianet News Hindi

इंदौर के डॉक्टरों का बड़ा ऐलान: Vaccine नहीं लगवाई तो नहीं होगा कोई इलाज, Corona फ्री बनाने की पहल शुरू

इंदौर के डॉक्टर अजय छागलानी और डॉ पिंकी भाटिया (Dr Ajay Chaglani and Dr Pinky Bhatia)ने जिला कलेक्टर और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को पत्र लिखकर अपने इस फैसले के बार में सूचना देकर बताया है। उन्होंने डीसी को लिखे अपने लेटर में बताया है  लोगों को इस महामारी से बचाने के लिए और उनकी भलाई के लिए बताता हूं कि जिसने भी 30 नवंबर तक टीके के दोनों डोज नहीं लगवाए हैं उनको अपनी सेवाए नहीं देंगे।

madhya pradesh news  indore doctors announce If you don't get the vaccine, you won't get treatment from nov 30
Author
Indore, First Published Nov 14, 2021, 9:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इंदौर. मध्य प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन (corona vaccination) की रफ्तार अच्छी है। प्रदेश सरकार और लोगों की जागरूकता के चलते 95 फीसदी लोगों का टीकाकरण (vaccination)हो चुका है। करीब 7 करोड़ से ज्यादा लोगों को  वैक्सीन की कम से कम पहली डोज मिल चुकी है। इसी बीच इंदौर शहर ( indore news) दो डॉक्टरों ने टीकाकरण के बारे में और जागरूकता (Awareness) फैलाने के लिए ऐलान किया है कि जिन्होंने  30 नवंबर से टीके की दोनों खुराक नहीं ली हैं। उन्हें वह अपनी सेवाएं देना बंद कर देंगे।

'जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली उनका नहीं होगा इलाज'
दरअसल, इंदौर के डॉक्टर अजय छागलानी और डॉ पिंकी भाटिया ने जिला कलेक्टर और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को पत्र लिखकर अपने इस फैसले के बार में सूचना देकर बताया है। उन्होंने डीसी को लिखे अपने लेटर में बताया है कि मैंने जिला प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे मेगा टीकाकरण अभियान को अपना समर्थन दिया है। लेकिन अब लोगों को इस महामारी से बचाने के लिए और उनकी भलाई के लिए बताता हूं कि जिसने भी 30 नवंबर तक टीके के दोनों डोज नहीं लगवाए हैं वह अपनी सेवाए नहीं देंगे।

इंदौर को कोरोना मुक्त बनाने की पहल
बता दें कि डॉ. अजय पहले एक सरकारी डॉक्टर थे, लेकिन अब रिटायर होनो के बाद अपना एक निजी क्लिनिक चलाते हैं।उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा, "मैंने लोगों को वैक्सीन के प्रति जागरूक करने के लिए यह कदम उठाया है ताकि लोगों को जल्द से जल्द वैक्सीन मिल सके और इंदौर कोरोना मुक्त हो सके।"

लोगों की भलाई के लिए लेना पड़ा ऐसा फैसला
वहीं इंदौर में फिजियोथेरेपी क्लिनिक चलाने वाली डॉक्टर पिंकी भाटिया (टोपीवाला) ने कहा, 'हमारे पास 20-25 लोगों का स्टाफ है, 50 लोग रोजाना फिजियोथेरेपी के लिए आते हैं, जिन्हें क्लाइंट्स के साथ फिजिकल कॉन्टैक्ट में आना पड़ता है। 'सरकार ने कोविड-19 के टीकाकरण की मुफ्त सुविधा दी है, इसलिए हम जागरूकता के लिए ये कदम उठा रहे हैं।


यह भी पढ़ें-Vaccination Update : बूस्टर डोज पर अगले माह फैसला, जल्दबाजी में नहीं है सरकार

Covid-19 :देश में 12 करोड़ लोगों को नहीं लगी दूसरी डोज, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री बोले- जारी रखें लड़ाई

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की किताब के छठे चैप्टर पर लिखीं वो लाइन क्या हैं जिस पर मचा है बवाल?
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios