Asianet News Hindi

5 साल पहले लगी थी सिर में चोट, एक दिन देखा तो उग आया था सींग

अकसर छोटे-मोटे विवाद के बीच आपने एक-दूसरे को कहते सुना होगा कि,'आपके क्या सींग है, जो डरूं?' लेकिन यहां तो सचमुच एक आदमी के सींग उग आया। यह अजीब मामला मप्र के सागर का है।

Rare case of sebaceous horn exposed in Madhya Pradesh, horn on head of man, A cutaneous horn is a type of growth that appears on the skin
Author
Bhopal, First Published Sep 13, 2019, 2:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. मध्य प्रदेश के सागर जिले में पिछले दिनों एक अजीब केस सामने आया। यहां एक आदमी के सींग निकल आया। उसे देखकर लोग डरने लगे, जबकि डॉक्टर हैरान रह गए। आपने कई फिल्में या कार्टून देखें होंगे, जिनमें सींग वाले इंसान दिखाई दिए होंगे। कई तस्वीरों में यमराज को भी सींग वाला मुकुट पहने देखा होगा। लेकिन इस आदमी के असली सींग उग आया था।

पांच साल से सींग लेकर घूम रहा था
यह हैं सागर जिले के रहली कस्बे से सटे पटना गांव के 74 वर्षीय श्यामलाल यादव। करीब 5 साल पहले इनके सिर के बीच में सींगनुमा कोई गांठ उग आई। पिछले दिनों डॉक्टरों ने ऑपरेशन करके यह गांठ निकाल दी। मेडिकल साइंस में ऐसे मामलों को दुर्लभ श्रेणी में रखा जाता है। श्यामलाल बताते हैं सींग से उन्हें कभी कोई तकलीफ नहीं हुई। लेकिन लोग उन्हें देखकर डर जाते थे। मजाक भी बनाते थे।

ऐसे निकला था सींग...
श्यामलाल के मुताबिक, करीब 5 साल पहले उन्हें सिर में चोट लगी थी। इसके बाद चोट वाली जगह से सींग उगने लगा। उन्होंने स्थानीय डॉक्टर को दिखाया, लेकिन कुछ फायदा नहीं मिला। एक बार उन्होंने नाई से सींग कटवा दिया। लेकिन कुछ दिनों बाद वो फिर से उग आया। ऐसा दो-तीन बार हुआ। इसके बाद उन्होंने भोपाल और नागपुर के कई हॉस्पिटल में जाकर ट्रीटमेंट कराया। हालांकि कहीं से भी उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ। आखिरकार उन्हें सागर में ही डॉ. विशाल गजभिये मिले। उन्होंने कुछ दिन पहले ऑपरेशन करके सींग निकाल दिया। डॉ. गजभिये ने बताया कि करीब 4 इंच लंबे सींग को निकालने के लिए पहले गहराई से जांच-पड़ताल की। जब यह पुख्ता हो गया कि इसके लिए न्यूरो सर्जरी की जरूरत नहीं पड़ेगी, तो गहराई से सींग को निकाला गया। उसकी जगह माथे की चमड़ी निकालकर प्लास्टिक सर्जरी की गई, ताकि सींग दुबारा न उगे। डॉक्टर इसे दुर्लभ केस मानते हैं। मेडिकल साइंस में इस बीमार को सेबेसियस हार्न कहते हैं। डॉ. गजभिये ने यह केस स्टडी इंटरेनशनल जर्नल में पब्लिश के लिए भेजी है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios