Asianet News Hindi

नेताओं-अफसरों और पत्रकारों की 'तबीयत टाइट' करने वाली 'लंदनवाली लड़की' की नई दास्तां

यह हैं गुंजन सक्सेना। गुंजन और उनके पत्रकार पिता कोरोना संक्रमित निकले थे। ये 200 से ज्यादा लोगों के संपर्क में आए थे। भोपाल में हड़कंप मचाने वाले पिता-बेटी कोरोना को हराकर घर लौट आए हैं।
 

Shocking Story by Gunjan Saxena, Bhopal first Corona Girl kpa
Author
Bhopal, First Published Apr 4, 2020, 12:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल, मध्य प्रदेश. इस तस्वीर में जो लड़की अपने पिता और मां के साथ दिखाई दे रही है, वो हैं गुंजन सक्सेना। गुंजन की जाने-अनजाने हुई एक गलती ने प्रशासन और मीडियाकर्मियों में घबराहट का माहौल पैदा कर दिया था। लंदन से लौटी गुंजन संक्रमित थीं। यह संक्रमण उनके जरिये उनके पिता तक भी पहुंचा। इनके पिता केके सक्सेना जर्नलिस्ट हैं। ये दोनों 20 मार्च को सीएम हाउस मे हुई कमलनाथ की सीएम रहते आखिरी प्रेस कान्फ्रेंस में शामिल हुए थे। इसके बाद जब गुंजन की रिपोर्ट सामने आई, तो हड़कंप मच गया था। कई अफसरों ने खुद को आइसोलेट कर लिया था। वहीं, पत्रकारों में इसे लेकर पिता-बेटी के खिलाफ आक्रोश फैल गया था। खैर, शुक्रवार को पिता-बेटी स्वस्थ्य होकर घर लौटे, तो मुस्कराकर फोटो खिंचवाए।


यह है गुंजन की कहानी...
प्रोफेसर कालॉनी में रहने वालीं 26 साल की गुंजन लंदन से भोपाल लौटी थीं। उनकी एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग हुई। वहां वे फिट निकलीं। वहां से वे शताब्दी में बैठकर भोपाल पहुंचीं। 20 मार्च को वे कमलनाथ की प्रेस वार्ता में पिता के साथ पहुंचीं। यहां करीब 200 लोग शामिल थे। 21 मार्च को गुंजन की तबीयत खराब होने पर कलेक्टर ने टीम भेजकर सैम्पल कराया। 22 मार्च को जब रिपोर्ट पॉजिटिव आई, तो हड़कंप मच गया। 25 मार्च को उनके पिता की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। इन पर प्रशासन को सहयोग नहीं करने का आरोप भी लगा। यह मामला मीडिया में काफी उछला था। हालांकि, शुक्रवार को पिता-बेटी स्वस्थ होकर घर लौट आए।


यह है मध्य प्रदेश में कोरोना का हाल...
मप्र में शुक्रवार को कोरोना के 41 नए मरीज मिले। इनमें सबसे ज्यादा इंदौर में 23 शामिल हैं। यानी अब तक मप्र में 161 कोरोना संक्रमित हो गए हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios