सीमा विवाद: कर्नाटक के वार्षिक मेले से 7,000 श्रद्धालुओं को लेकर कोल्हापुर लौटीं MSRTC की 145 बसें

| Dec 08 2022, 04:12 PM IST

सीमा विवाद: कर्नाटक के वार्षिक मेले से 7,000 श्रद्धालुओं को लेकर कोल्हापुर लौटीं MSRTC की 145 बसें

सार

महाराष्ट्र और कर्नाटक दोनों राज्यों की सीमाएं एक विवाद के चलते बंद हैं। दोनों राज्य के नेता वर्तमान में एक-दूसरे के खिलाफ व्यापार कर रहे हैं। मंगलवार को बेलगावी जिले के हिरेबागवाड़ी में एक टोल बूथ के पास महाराष्ट्र से कर्नाटक में प्रवेश करने वाले वाहनों पर पथराव के साथ यह सीमा विवाद सड़कों तक पहुंच गया।

महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (MSRTC) ने गुरुवार को बयान जारी करते हुए बताया कि उसकी सभी 145 बसें गुरुवार सुबह भक्तों के साथ कोल्हापुर सुरक्षित लौट आईं। बता दें कि ये सभी बसें इस सप्ताह की शुरुआत में राज्य के लगभग 7,000 तीर्थयात्रियों को लेकर देवी येल्लम्मा मंदिर में वार्षिक मेले के लिए कर्नाटक के सौंदत्ती गई थीं। MSRTC के एक अधिकारी ने बताया कि इन श्रद्धालुओं ने मेले में हिस्सा लेने के लिए सोमवार को बसों से सौंदत्ती की यात्रा की थी।

सड़क तक पहुंचा सीमा विवाद
महाराष्ट्र और कर्नाटक दोनों राज्यों की सीमाएं एक विवाद के चलते बंद हैं। दोनों राज्य के नेता वर्तमान में एक-दूसरे के खिलाफ व्यापार कर रहे हैं। मंगलवार को बेलगावी जिले के हिरेबागवाड़ी में एक टोल बूथ के पास महाराष्ट्र से कर्नाटक में प्रवेश करने वाले वाहनों पर पथराव के साथ यह सीमा विवाद सड़कों तक पहुंच गया। इसी तरह, पुणे जिले में कर्नाटक की कम से कम चार बसों में कथित तौर पर शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं द्वारा तोड़-फोड़ की गई थी।

Subscribe to get breaking news alerts

पुलिस संरक्षण में ले जाए गए 7 हजार श्रद्धालु
स्थिति को देखते हुए, MSRTC ने स्थानीय पुलिस और जिला प्रशासन के निर्देश पर मंगलवार दोपहर से अपनी 1,156 सेवाओं में से 382 को निलंबित कर दिया, जो कर्नाटक में प्रतिदिन संचालित होती थीं। वहीं PTI से बात करते हुए एमएसआरटीसी के एक प्रवक्ता ने कहा, 'मरम्मत करने वाले ट्रकों और इंस्पेक्शन टीम के साथ सभी 145 ST बसें गुरुवार सुबह कर्नाटक से सुरक्षित कोल्हापुर पहुंच गईं। इन बसों में पड़ोसी राज्य की पुलिस के संरक्षण में करीब 7,000 श्रद्धालुओं को ले जाया गया।'

हर साल जाते हैं हजारों भक्त 
बता दें हर साल दिसंबर में देवी येल्लम्मा के भक्त हजारों की तादाद में तीन दिनों के लिए कोल्हापुर से सौंदत्ती मेले में विजिट करने जाते हैं। MSRTC लगभग 16,000 बसों के बेड़े के साथ काउंटी के सबसे बड़े पब्लिक ट्रांसपोर्ट में से एक है। इसके द्वारा संचालित बसों में 65 लाख से अधिक यात्री सफर करते हैं।
 
और पढ़ें...

शादी की तैयारी छोड़ अपने पालतू जानवर को खाना खिलाने में जुटी यह दुल्हन, वायरल हुआ इमोशनल वीडियो

अडानी और बेजोस नहीं, इस शख्स ने कुछ पलों के लिए छीना एलन मस्क से सबसे अमीर होने का ताज

Best Smartphones in 2022: जहां iQOO 10 Pro लेकर आया फास्ट चार्जिंग, वहीं Nothing ने दी बिल्ट इन LED लाइट्स