Asianet News HindiAsianet News Hindi

Bulli Bai App Case : बांद्रा कोर्ट ने आरोपी श्वेता सिंह और मयंक रावत को 14 जनवरी तक पुलिस कस्टडी में भेजा

महाराष्ट्र पुलिस ने उत्तराखंड के रुद्रपुर से 18 साल की श्वेता सिंह को गिरफ्तार किया था। जबकि मयंक रावत की गिरफ्तारी उत्तराखंड के कोटद्वार से गिरफ्तार किया था। मयंक रावत दिल्ली के जाकिर हुसैन कॉलेज का छात्र है।

Bulli Bai App Case Maharashtra mumbai accused shweta singh and mayank rawat police custody till january 14 stb
Author
Mumbai, First Published Jan 10, 2022, 5:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई : बुल्ली बाई एप केस (Bulli Bai App Case) में आरोपी श्वेता सिंह और मयंक रावत को बांद्रा कोर्ट ने 14 जनवरी तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। वहीं आरोपी विशाल झा को मेडिकल ऑब्जर्वेशन के तहत न्यायिक हिरासत में भेजा गया है, उसकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। महाराष्ट्र पुलिस ने उत्तराखंड के रुद्रपुर से 18 साल की श्वेता सिंह को गिरफ्तार किया था। जबकि मयंक रावत की गिरफ्तारी उत्तराखंड (Uttarakhand) के कोटद्वार से गिरफ्तार किया था। मयंक रावत दिल्ली के जाकिर हुसैन कॉलेज का छात्र है। इससे पहले दोनों को 10 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेजा गया था।

इस कारण से बढ़ी कस्‍टडी
मुंबई पुलिस ने आरोपियों की कस्टडी बढ़ाने की कोर्ट से मांग की। पुलिस ने कोर्ट में कहा कि वे प्रोटॉन मेल का उपयोग कर रहे थे, जिसके आईपी एड्रेस से अंकित का पता लगाया जा सकता है। सोशल प्लेटफॉर्म पर आपत्तिजनक सामग्री फैलाने के लिए आरोपी 10-12 मल्टीपल अकाउंट का इस्तेमाल कर रहे थे। सभी खाते प्रॉक्सी और छिपे हुए आईपी पते थे जो जांच को गुमराह करने के लिए थे। इसलिए, आरोपी जानबूझकर अपराध का हिस्सा थे जो जांच की गुंजाइश छोड़ देता है कि क्या उनका ऑपरेशन किसी और द्वारा किया गया था। जिसके बाद कोर्ट ने दोनों की हिरासत बढ़ा दी।

शिकायतकर्ता को धमकाने पर मामला दर्ज
इधर, मुंबई पुलिस ने 'बुली बाई' ऐप मामले में शिकायतकर्ता को कथित रूप से धमकाने के आरोप में एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस जांच कर रही है कि शिकायतकर्ता के नंबर अज्ञात लोगों तक कैसे पहुंचे और धमकी देने वाला शख्स कौन है?

क्या है मामला
बुली बाई ऐप के जरिए मुस्लिम समुदाय की महिलाओं की तस्वीरें लगाकर उनकी कथित तौर पर बोली लगाने का आरोप है। पुलिस ने आरोप लगाया है कि उत्तराखंड के रुद्रपुर की स्टूडेंट श्वेता सिंह एक अन्य आरोपी विशाल के साथ विवादास्पद ऐप को कंट्रोल करती थी। उसने ही ऐप का ट्विटर हैंडल भी बनाया था। इस मामले पुलिस ने एक अन्य गिरफ्तारी उत्तराखंड से की है। उस युवक का नाम मयंक रावत है और वह श्वेता का दोस्त है। जबकि नीरज राजस्थान के नागौर का रहने वाला है। और विशाल बिहार का रहने वाला है।

इसे भी पढ़ें-Bulli Bai App के MP से भी जुड़े हैं तार, असम में पकड़ा सरगना VIT सीहोर का स्टूडेंट, खोले ये बड़े राज

इसे भी पढ़ें-Bulli Bai App Case में बड़ी कार्रवाई, मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने एक और आरोपी को हिरासत में लिया

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios