Asianet News HindiAsianet News Hindi

गढ़चिरौली मुठभेड़: 26 नक्सलियों की लाशें लेकर लौटे कमांडो, स्वागत में बजाए गए ढोल, 1.36 करोड़ रुपए था इनाम

महाराष्ट्र (Maharashtra) जिले के गढ़चिरौली (Gadchiroli) के जंगल में दो दिन पहले मुठभेड़ में मारे गए 26 नक्सलियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। रविवार को महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) के कमांडो ये सभी शव को लेकर वापस मुख्यालय लौट आए हैं। इस दौरान पुलिस के साथियों ने ऑपरेशन को सफल बनाने वाली टीम का ढोल बजाकर स्वागत किया। 

Gadchiroli encounter Commandos returned with dead bodies of 26 Naxalites drums played in welcome UDT
Author
Gadchiroli, First Published Nov 15, 2021, 8:59 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गढ़चिरौली। महाराष्ट्र (Maharashtra) जिले के गढ़चिरौली (Gadchiroli) के जंगल में दो दिन पहले मुठभेड़ में मारे गए 26 नक्सलियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। रविवार को महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) के कमांडो ये सभी शव को लेकर वापस मुख्यालय लौट आए हैं। इस दौरान पुलिस के साथियों ने ऑपरेशन को सफल बनाने वाली टीम का ढोल बजाकर स्वागत किया। जश्न मनाया और एक-दूसरे को बधाई दी। ये सब नजारा और खुशी का माहौल देखने लायक था। बता दें कि इन सभी 26 नक्सलियों पर कुल 1.36 करोड़ रुपए इनाम था। मारे गए नक्सलियों में 4 महिला नक्सली भी थीं। ये बड़ी कामयाबी महाराष्ट्र पुलिस की एलीट कमांडो फोर्स C-60 की मिली है। 

पुलिस के मुताबिक, मिलिंद उर्फ दीपक उर्फ जीवा नाम के नक्सली पर 50 लाख रुपए का इनाम था। ये नक्सलियों के सेंट्रल कमेटी का सदस्य था। इसके अलावा 16 लाख रुपए का इनामी महेश उर्फ शिवाजी गोटा भी शामिल था। यह नक्सली छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा-सुकमा जिले के बॉर्डर पर स्थित जगरगुंडा का निवासी था। इसके अलावा, जिन 26 नक्सलियों को ढेर किया है, उनमें से 7 छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले के रहने वाले थे। इन सभी पर 46 लाख रुपए का इनाम घोषित था। सबसे ज्यादा लोकेश उर्फ मंगू पोडयाम पर 20 लाख रुपए का इनाम था। लच्छू और कोसा पर 4-4 लाख, किसन उर्फ जयमन और सन्नू पर 8-8 लाख रुपए का इनाम था। चेतन 2 लाख रुपए का इनामी था। इनमें एक महिला नक्सली भी शामिल थी। उसकी हिस्ट्री खंगाली जा रही है।

खूंखार नक्सली मिलिंद के बारे में...
खूंखार नक्सली मिलिंद भी मारा गया है। उस पर 50 लाख रुपए का इनाम था। ये नक्सलियों को गोरिल्ला युद्ध की ट्रेनिंग देने के लिए कैंप लगाता था। इसके कैंप में ट्रेनिंग लेने वाले कई नक्सली महाराष्ट्र, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्य में सक्रिय हैं और आतंक मचा रहे हैं। मिलिंद की पत्नी भी नक्सली संगठन में थी। उसे 2011 में गिरफ्तार किया गया था।

मुठभेड़ में 3 कमांडो जख्मी
गढ़चिरौली के SP अंकित गोयल ने बताया कि करीब 10 घंटे तक मुठभेड़ में 3 जवानों को भी गोली लगी। जिन्हें नागपुर रेफर किया गया है। घटनास्थल से टीम ने 5 AK-47, 9 SLR , 1 इंसास, 3 थ्री नॉट थ्री, 9 बारह बोर बंदूक समेत 1 पिस्टल बरामद की गई है। कुल 29 हथियार समेत बड़ी मात्रा में अन्य सामान भी बरामद किया है।

जानिए कामयाबी की कहानी
गढ़चिरौली पुलिस को शनिवार को मुखबिर से सूचना मिली थी कि ग्यारापट्टी के जंगल में कई इनामी नक्सलियों का मूवमेंट देखा जा रहा है। इस पर गढ़चिरौली के सी-60 कमांडो की टीम इसी इलाके में ऑपरेशन के लिए पहुंची। पुलिस टीम जंगल की चारों तरफ से घेराबंदी कर रही थी। इस बीच, नक्सलियों को आहट सुनाई दी तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। कमांडो टीम ने भी नक्सलियों को मुहंतोड़ जवाब दिया। और एक के एक 26 नक्सलियों को ढेर कर दिया। घने जंगल में कई बड़े नक्सली भाग गए हैं। कइयों को गोली भी लगने की बात कही जा रही है। ये मुठभेड़ करीब 10 घंटे तक चली।

Gadhchirauli एनकाउंटर: 50 लाख का इनामिया जोनल चीफ मिलिंद भी मारा गया, बेहद पढ़ा-लिखा है परिवार

Maharashtra: गढ़चिरौली में पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराए 26 नक्सली, तीन जवान घायल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios