Asianet News HindiAsianet News Hindi

ममता शर्मसार: मां ने 2 साल के बेटे को मार डाला, मासूम तड़पता रहा और वो तब तक देखती रही जब तक वो मर नहीं गया

यह दिल दहला देने वाली वारदात महाराष्ट्र के लातूर से सामने आई है। जहां  एक निर्दयी मां ने अपने जिगर के टुकड़े दो साल के बेटे की हत्या कर दी।  पति से बोली- मैंने उसे कुएं में फेंक दिया है। वह मर चुका है, जाकर देख आओ।

Maharashtra shocking news mother threw 2 year old son into the well
Author
Latur, First Published Dec 7, 2021, 3:19 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लातूर (महाराष्ट्र). कहते हैं दुनिया में मां जैसा कोई नहीं होता। वह बच्चों की खातिर अपने जान तक दांव पर लगा देती है। लेकिन महाराष्ट्र के लातूर से ममता को तार-तार कर देने वाला ऐसा मामला सामने आया है। जो हैरत में डाल देगा। यहां एक महिला ने अपने 2 साल के बच्चे को मरने के लिए कुएं में फेंक दिया। मासूम पानी में डूबता रहा और बिलखता रहा और मां वहीं खड़े होकर उसके मरने का इंतजार करती रही। जब तक उसकी सांसे नहीं थमी वह वहीं मौजूद रही।

अपना जुर्म कबूलते हुए खुद ही इस क्राइम की काहानी बंया की
दरअसल, यह दिल दहला देने वाली वारदार सोमवार शाम लातूर में देखने को मिली। जहां माया पांचाल (25) नाम की महिला ने अपने जिगर के टुकड़े की हत्या कर दी। उसके पति ने वेंकट पांचाल ने बेटे संपत की हत्या के आरोप में उसकी शिकायत कराई। पुलिस ने तत्काल एक्शन लेते हुए महिला को गिरफ्तार कर लिया है। उसने अपना जुर्म कबूलते हुए खुद ही इस क्राइम की काहानी बंया की है।

पति से बोली-मैंने बच्चे को मार दिया है जाकर देख आओ
बता दें कि महिला का पति एक कंपनी में नौकरी करता है, वह ड्यूटी पर गया हुआ था, तभी उसने इस वारदात को अंजाम दिया। जब पति घर आया और उसने बेटे के बारे में पूछा तो उसने कहा कि मैंने उसे कुएं में फेंक दिया है। वह मर चुका है, जाकर देख आओ। इतना सुनते ही युवक के पेरों तले की जमीन खिसक गई, लेकिन महिला के चेहरे पर कोई सिकन तक नहीं थी।

परिवार ने बताई महिला के बारे में ये कहानी
पत्नी की बात सुनते ही पति भागते-भागते कुएं पर गया, लेकिन मासूम दम तोड़ चुका था। लेकिन फिर भी उसने ग्रामीण वालों की मदद से बच्चे के शव को बाहर निकाला। फिर पुलिस को बुलाकर पूरे मामले की जानकारी दी। वहीं मामले की जांच पड़ताल के दौरान पुलिस ने कहा कि महिला की मानसिक स्थिति अच्छी नहीं है। जबकि पड़ोसियों और परिवार के अन्य सदस्यों का कहना है कि पति-पत्नी में अक्सर विवाद होता रहता था। वो रोजाना झगते थे, हो सकता है कि इसी वजह से गुस्से में आकर उसने बच्चे को मार दिया हो।

यह भी पढ़ें-MP: हे निर्दयी मां... मैं अभी जिंदा हूं, 3 दिन के बच्चे को जिंदा दफनाया, एक चमत्कार से बच गई नन्हीं जान

दिल को छू लेने वाली खबर: बिल्लियों ने बचाई नवजात की जान, माता-पिता ने मासूम को छोड़ दिया था मरने
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios