Asianet News HindiAsianet News Hindi

मुंबई में दही हांडी प्रतियोगिता के दौरान 111 घायल, 23 गोविंदाओं की हालत गंभीर

Shri Krishna Janmashtami: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने गुरुवार को राज्य विधानसभा को सूचित किया था कि सरकार ने दही हांडी को साहसिक खेल का दर्जा देने का फैसला किया है।

Mumbai Dahi Handi competition during Shri Krishna Janmashtami, may dozens injured durinh human pyramid, DVG
Author
Mumbai, First Published Aug 19, 2022, 8:13 PM IST

मुंबई। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी समारोह (Shri Krishna Janmashtami) के दौरान मुंबई में हादसा हो गया। दही हांड़ी प्रतियोगिता (Dahi Handi Competition) के दौरान मानव पिरामिड बनाने के दौरान कम से कम 111 'गोविंदा' या दही हांडी प्रतिभागी घायल हो गए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से 23 की हालत गंभीर बताई जा रही है। 

मुंबई में जन्माष्टमी पर शाम को दही हांडी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इसी दौरान मानव पिरामिड बनाते वक्त यह हादसा हो गया। मानव पिरामिड टूटने के बाद सारे गोविंदा नीचे आ गए। इससे इनमें में कई युवकों को काफी चोटें आई। सबको आनन फानन में आसपास के अस्पतालों में पहुंचाया गया। एक रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार की शाम 6 बजे तक, 17 गोविंदाओं का इलाज केईएम अस्पताल में किया गया। जबकि 11 का जीटी अस्पताल में, 10 का राजावाड़ी अस्पताल में और नौ का नायर अस्पताल में इलाज किया गया है।

23 गंभीर हालत में भर्ती

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने कहा कि घायलों में से अधिकांश का इलाज किए जाने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई जबकि 23 को अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनकी हालत स्थिर बताई गई है। महाराष्ट्र सरकार ने एक आदेश जारी कर सरकारी अस्पतालों को गोविंदा मंडली के घायल सदस्यों का मुफ्त इलाज करने का निर्देश दिया है।

महाराष्ट्र में धूमधाम से मनाई जाती है श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

महाराष्ट्र सहित पूरे देश में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार पूरे उल्लास व जोश के साथ मनाया जाता है। राज्य में विभिन्न शहरों में दही हांडी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। दरअसल, पूरे महाराष्ट्र में गोविंदा मंडली जन्माष्टमी समारोह के दौरान जमीन के ऊपर लटका हुआ छाछ और दही युक्त मिट्टी के बर्तन तक पहुंचने और तोड़ने के लिए मानव पिरामिड बनाते हैं। प्रतिभागियों के ऊंचाई से गिरने और घायल होने की घटनाएं आम हैं। मुंबई और ठाणे जैसे शहरों में दही हांडी कार्यक्रमों और गोविंदा मंडलियों को काफी राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने गुरुवार को राज्य विधानसभा को सूचित किया था कि सरकार ने दही हांडी को साहसिक खेल का दर्जा देने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें:

जम्मू-कश्मीर में आतंक के लिए हवाला के जरिए फिर आ रहा धन, टेरर फंडिंग का दिल्ली एजेंट अरेस्ट

वायनाड में राहुल गांधी की ऑफिस में तोड़फोड़ SFI ने नहीं कांग्रेसियों ने की, राहुल के पीए समेत 4 अरेस्ट

देश के पहले Nasal कोविड वैक्सीन के थर्ड फेज का ट्रॉयल सफल, जल्द मंजूरी के आसार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios