Asianet News Hindi

मरकज से 14 राज्यों में 10 हजार लोगों को संक्रमण का खतरा, यूपी में 95% जमातियों की हुई पहचान!

तबलीगी जमात के मरकज के खिलाफ दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इस बीच उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में जमात में शामिल लोगों की तलाश जारी है। यूपी सरकार का दावा है कि जमात में शामिल 95 फीसदी लोगों की पहचान हो गई है।

10 thousand people at risk of infection due to mercury, 95% of the deposits in UP have been identified kps
Author
New Delhi, First Published Apr 1, 2020, 9:24 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत में कोरोना संक्रमण का केंद्र बन चुके तबलीगी जमात के मरकज के खिलाफ दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मरकज से देर रात भी जमातियों को बसों में भरकर आइसोलेश वार्ड में एडमिट कराया गया है। सुबह 4 बजे तक 2100 लोगों को मरकज से निकाला गया। हालांकि, मरकज का दावा था कि अंदर सिर्फ एक हजार लोग हैं। इससे उलट वहां से 2100 लोग निकाले गए हैं। 

यूपी सरकार का दावा 95 फीसदी लोग चिन्हित 

इस बीच उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में जमात में शामिल लोगों की तलाश जारी है। यूपी सरकार ने दावा किया है कि मरकज की जमात में शामिल हुए 95 फीसदी लोगों की पहचान कर ली गई है। कई शहरों की मस्जिदों में पनाह लेने वाले जमातियों को क्वारंटीन सेंटर भेजा गया है। अब तक दो हजार से अधिक लोगों को क्वारनटीन किया गया है। 

मरकज पर पुलिस की कार्रवाई

देश को कोरोना महामारी के संकट में ढकेल देने वाले तबलीगी जमात के मरकज पर अब पुलिस का एक्शन शुरू हो गया है। कायदे- कानूनों की धज्जियां उड़ाने वाले मौलाना शाद और निजामुद्दीन स्थित मरकज में जमात के आयोजकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 269, 270, 271 और 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है। 

दिल्ली पुलिस ने जारी की लिस्ट

जमातियों के जारी तलाश और उन्हें आइसोलेटेड किए जाने के बीच दिल्ली पुलिस ने एक लिस्ट भी जारी की है, जिसमें मरकज से जुड़े 157 लोगों का जिक्र है जो दिल्ली की अलग- अलग मस्जिदों और जगहों पर पनाह लिए हुए हैं। इनमें 94 इंडोनेशिया, किर्गिस्तान के 13, बांग्लादेश के 9 , मलेशिया के 8 , अल्जीरिया के 7, इटली, बेल्जियम और ट्यूनीशिया के एक-एक लोग भी शामिल हैं। पुलिस का कहना है कि जहां ये लोग रह रहे हैं, वहां सोशल डिस्टेंसिंग नहीं हो सकती है।

अब तक 10 जमाती की मौत

निजामुद्दीन स्थित मरकज में शामिल जमातियों में से 10 की कोरोना वायरस के चलते मौत हो चुकी है। तेलंगाना में 7 लोगों की मौत हुई है, जबकि कश्मीर में एक जमाती की कोरोना वायरस के चलते मौत हो गई है। मरकज में इनमें इंडोनेशिया, चीन, इंग्लैंड, मलेशिया, बांग्लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, सऊदी अरब और इंग्लैंड के जमाती शामिल थे। 

इन राज्यों से मरकज से लौटें लोगों की हो रही तलाश: 

तमिलनाडु- 77 लोग संक्रमित पाए गए हैं। करीब 1500 लोग दिल्ली गए थे। 

आंध्र प्रदेश- 463 जमाती क्वारंटाइन किए गए। 603 लोगों की तलाश के लिए 200 टीमें लगाई गईं। 

उत्तर प्रदेश-157 में से 95 प्रतिशत लोगों को चिन्हित कर लिया गया है। 

असम- 299 लोगों को ट्रेस किया जा रहा है। 

छत्तीसगढ़- भिलाई में 8 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। बाकियों की तलाश की जा रही है। 

कर्नाटक- 45 लोग जमात से लौटें, जिसमें 13 लोगों को क्वारंटाइन किया गया। बाकी लोगों की तलाश की जा रही है। 

महाराष्ट्र- 100 जमाती दिल्ली के मरकज से लौटें, सभी की लोकेशन ढूंढी जा रही है। 

तेलंगाना- मरकज से लौटें जमातियों में से 6 लोगों की मौत हो चुकी है। शेष अन्य को चिन्हित किया जा रहा है। 

अंडमान निकोबार- 10 जमाती संक्रमित पाए गए हैं। इसमें से 9 जमाती मरकज से लौटे थे।

झारखंड- 34 लोग मरकज से लौटें, अभी तक कोई जानकारी नहीं लगी हाथ। पुलिस सभी जमातियों की तलाश में जुटी हुई है। 

गुजरात- भावनगर के लोग दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्थित मरकज में गए थे। सभी वहां से लौट आए हैं, अभी तक इनके बारे में कोई जानकारी हाथ नहीं लगी है। पुलिस सभी जमातियों की तलाश कर रही है। 

बिहार- 84 संदिग्धों में से 37 लोगों को ढूंढ लिया गया है। बाकी की भी तलाश की जा रही है। 

मध्यप्रदेश- प्रदेश से 82 जमाति मरकज गए थे। सभी को चिन्हित कर लिया गया है।

जम्मू-कश्मीर- मरकज से लौटे एक शख्स की मौत। हालांकि अभी और किसी के होने की पुष्टि नहीं की गई है। बावजूद इसके प्रशासन सतर्कता बरतते हुए छानबीन कर रहा है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios