एशियानेट बिजनेस डेस्क. आदित्य बिड़ला फैशन एंड रिटेल लिमिटेड (ABFRL) ने शुक्रवार को फ्लिपकार्ट में हिस्सेदारी बेचने को मंजूरी दे दी है। इसकी जानकारी खुद आदित्या बिड़ला ग्रुप ने दी है। ग्रुप ने बताया कि उसके उसके बोर्ड ने वॉलमार्ट के स्वामित्व वाले फ्लिपकार्ट समूह को 1,500 करोड़ रुपये में तरजीही आधार पर 7.8 फीसदी हिस्सेदारी जारी करने की योजना को मंजूरी दी है।

1,500 करोड़ रुपये जुटाने की दी मंजूरी 

इस को लेकर आदित्य बिड़ला ग्रुप कंपनी ने शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा कि, 'आदित्य बिड़ला फैशन एंड रिटेल ने आज फ्लिपकार्ट समूह को तरजीही शेयर जारी कर 1,500 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी दे दी है। अब इसके तहत प्रति शेयर 205 रुपये की दर से इक्विटी पूंजी जुटाई जाएगी।

ABFRL के शेयर में जोरदार उछाल देखा गया

आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा कि यह साझेदारी भारत में परिधान उद्योग के भविष्य को लेकर मजबूत विश्वास को दर्शाती है, जिसके अगले पांच वर्षों में 100 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है। इस खबर के बाद से एबीएफआरएल के शेयर में जोरदार उछाल देखा गया है। शुक्रवार सुबह निफ्टी 153.95 के स्तर पर खुलने के बाद दोपहर 12.46 बजे 16.55 अंक (10.78 फीसदी) के उछाल के साथ 170.05 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। जबकि इससे पछले कारोबारी दिन यह 153.50 के स्तर पर बंद हुआ था। मौजूदा समय में कंपनी का बाजार पूंजीकरण 139.65 अरब है। 

ABFRL के पास 3,004 स्टोर्स का नेटवर्क

ABFRL के पास 3,004 स्टोर्स का नेटवर्क है, जिसमें 23,700 मल्टी-ब्रांड आउटलेट्स की उपस्थिति है। यह पैंटालूंस खुदरा के अलावा वैन ह्यूसेन, लुई फिलिप, एलन सोली और पीटर इंग्लैंड जैसे ब्रांडों का संचालन करता है।