Asianet News HindiAsianet News Hindi

अंकिता भंडारी हत्याकांड: उस दिन अंकिता ने 19 मिनट तक दोस्त से की थी बात, लास्ट शब्द सुन शॉक्ड था वो

अंकिता भंडारी हत्याकांड (Ankita Bhandari Murder Case ) में अंकिता के दोस्त ने कई खुलासे किए हैं। उसने कहा है कि पुलकित आर्या ने अंकिता से कुछ वीआईपी गेस्ट को एक्स्ट्रा सर्विस देने की डिमांड की थी। उसने अंकिता को अश्लीलता के आरोप में गिरफ्तार कराने की धमकी दी थी।

ankita bhandari murder case Pulkit Arya demanded to provide extra service to VIP guest vva
Author
First Published Sep 24, 2022, 12:55 PM IST

देहरादून। उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में हुई अंकिता भंडारी की हत्या (Ankita Bhandari Murder Case) में नई जानकारी सामने आई है। परिवार की मदद के लिए अंकिता ने भाजपा नेता विनोद आर्या के बेटे पुलकित आर्या के रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के पद पर नौकरी ज्वाइन की थी। जॉब लगने के 20 दिन में ही उसकी हत्या कर दी गई। 

अंकिता भंडारी के दोस्त ने हत्याकांड से जुड़े कई खुलासे किए हैं। उसने कहा है कि पुलकित आर्या ने अंकिता से रिजॉर्ट आए वीआईपी गेस्ट को एक्स्ट्रा सर्विस देने की मांग की थी। अंकिता इसके लिए तैयार नहीं हुई, जिसके चलते उसकी हत्या कर दी गई। हत्या से पहले अंकिता ने अपने दोस्त को फोन कर कहा था कि मैं फंस गई हूं। 

पुलकित ने की थी आर्या से छेड़छाड़
अंकिता भंडारी के दोस्त ने कहा, "जॉब लगे अभी 20 दिन ही हुए थे। उसे एक बार दिक्कत हुई थी। उसने मुझसे बोला था कि रिजॉर्ट के मालिक ने शराब के नशे में उसे छेड़ा था। अगले दिन उसने माफी मांगकर इनको मना लिया था। इसके बाद भी अंकिता को दिक्कत हुई, लेकिन वह खुलकर बता नहीं रही थी। 17 सितंबर को उससे कुछ वीआईपी गेस्ट के लिए एक्स्ट्रा सर्विस की डिमांड की गई थी। उसी रात से वह गायब हो गई थी।"

अंकिता भंडारी के दोस्त ने कहा, " 17 सितंबर को शाम छह बजे अंकिता से मेरी बात हुई थी। हमारे बीच आम बात हुई तभी उसने रोना शुरू कर दिया था। मैंने पूछा कि क्या बात है? तो वह बता नहीं पाई। उसने कहा कि मैं बाद में बताऊंगी, रात को।  उसने बताया था कि मालिक पुलकित आर्या ने पुलिस को फोन किया है। उसने पुलिस को बोला है कि यहां पर एक अश्लील लड़की है। इसको यहां से गिरफ्तार करके ले जाओ। शायद उसने अंकिता को डराने के लिए फोन कॉल किया था। मुझे इसके बारे में अधिक नहीं पता। वह रो-रोकर बता रही थी।"

यह भी पढ़ें- Ankita Bhandari Case: रिसेप्शनिस्ट को कस्टमर्स के साथ सोने के लिए कहता था नेता का बेटा, पढ़िए 10 बड़े फैक्ट्स

अंतिम बार बोली-मैं फंस गई हूं
अंकिता के दोस्त ने कहा,"17 सितंबर को शाम 8:30 बजे उसने फोन किया था। गाड़ियों की आवाज आ रही थी। मैंने पूछा कि कहां हो। उसने कहा था कि मैं अभी बाहर हूं। मैंने कहा कि अभी इतनी बड़ी बात हुई है। बाहर कहां हो? उसने कहा कि सर ने कहा है कि कुछ जरूरी बात करनी है। बाहर थोड़ा टहलकर आते हैं। पुलकित रिजॉर्ट के कर्मियों के साथ पहले भी शाम को टहलने जाता था। मुझे थोड़ा-थोड़ा शक हो रहा था, इसलिए मैंने अंकिता से कहा था कि फोन नहीं काटो। मेरी 18-19 मिनट तक बात हुई। वह कुछ बता नहीं पा रही थी। अंत में उसने कहा कि मैं फंस गई हूं। उसके बाद फोन बंद हो गया। करीब 8:52 बजे फोन बंद हुआ था।

यह भी पढ़ें- 10वीं बार 'दिव्य हिमाचल' पहुंचे मोदी ने क्यों मांगी मंच से युवाओं से माफी, पढ़िए PM की पूरी स्पीच

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios