Asianet News HindiAsianet News Hindi

रोजगार मेला:PM मोदी ने 71,000 कैंडिडेट्स को सौंपे अपॉइंटमेंट लेटर, कहा-अभियान लगातार जारी रहेगा

इससे पहले PM मोदी ने 22 अक्टूबर को  75,000 नवनियुक्त कर्मियों को नियुक्ति पत्र सौंपे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर्मयोगी प्रारंभ मॉड्यूल का भी शुभारंभ किया, जो सभी नवनियुक्त व्‍यक्तियों के लिए एक ऑनलाइन ओरिएंटेशन कोर्स है।
 

appointment letters to newly recruited applicants under Rojgar Mela kpa
Author
First Published Nov 22, 2022, 6:46 AM IST

नई दिल्ली.प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रोजगार मेले(Rojgar Mela) के तहत आज (22 नवंबर) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लगभग 71,000 नवनियुक्त आवेदकों को नियुक्ति पत्र सौपे। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर इन नवनियुक्त व्‍यक्तियों को संबोधित भी किया। इससे पहले PM मोदी ने 22 अक्टूबर को  75,000 नवनियुक्त कर्मियों को नियुक्ति पत्र सौंपे थे।

मोदी ने कही ये बात
रोजगार मेले में जुड़े सभी युवा साथियों को बहुत बहुत बधाई, आज एक साथ देश के हजारों घरों में खुशहाली की शुरुआत हुई। आज 45 शहरों में 71 हजार से ज्यादा युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं। इससे हजारों लोगों के घरों में खुशियां आएंगी। पिछले महीने धनतेरस के मौके पर 75 हजार युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए गए थे। देश के युवाओं को रोजगार मेले के माध्यम से नियुक्ति पत्र देने का ये अभियान ऐसे ही अनवरत जारी रहेगा।यह विशाल रोज़गार मेला दिखाता है कि सरकार कैसे सरकारी नौकरियां देने के लिए मिशन मोड में काम कर रही है। देश की युवा शक्ति अधिक से अधिक मात्रा में राष्ट्र निर्माण में काम आए ये हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। जानकार बता रहे हैं कि भारत के पास अपनी क्षमता दिखाने का स्वर्णिम मौका है और ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि भारत उत्पादन के क्षेत्र में भी अव्वल बनने जा रहा है।

सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्र में नौकरियों की अपार संभावनाएं बन रही हैं और ये मौके युवाओं के अपने ही गांव और शहर में बन रहे हैं। हमारे 80 हजार से अधिक स्टार्ट-अप युवाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर दे रहे हैं। आज भारत सेवा निर्यात में विश्व में एक बड़ी शक्ति के रूप में उभरा है। जानकारों की मानें तो भारत दुनिया का मैन्युफैक्चरिंग हाउस बनने की राह पर है। आज जो अपना व्यापार करना चाहते हैं, उन्हें मुद्रा लोन से बड़ी मदद मिल रही है और अब तक 35 करोड़ से अधिक लोन दिए जा चुके हैं। पीएलआई योजना से 60 लाख नई नौकरियां पैदा होने की उम्मीद है। मेक इन इंडिया और वोकल फॉर लोकल जैसी पहल रोजगार और स्वरोजगार के अवसर पैदा कर रही हैं।

 https://t.co/mGnTIEAOIb

जानिए रोजगार मेले से जुड़ीं ये बातें
रोजगार मेला रोजगार पैदा के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता देने की प्रधानमंत्री के कमिटमेंट को पूरा करने की दिशा में एक कदम है। रोजगार मेले से आगे रोजगार का सृजन करने और युवाओं को उनके सशक्तिकरण तथा प्रत्‍यक्ष रूप से राष्ट्रीय विकास में भागीदारी करने के लिए सार्थक अवसर उपलब्‍ध कराने के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में काम करने की उम्मीद है। इससे पहले रोजगार मेले के तहत अक्टूबर में 75,000 से अधिक नवनियुक्त लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपे गए थे। क्लिक करके पढ़ें

नवनियुक्त व्‍यक्तियों को नियुक्ति पत्रों की भौतिक प्रतियां देश के 45 स्थानों पर (गुजरात और हिमाचल प्रदेश को छोड़कर, क्योंकि यहां चुनावी आचार संहित लागू है) सौंपी जाएंगी। पहले भर्ती किए गए पदों की श्रेणियों के अलावा शिक्षक, व्याख्याता, नर्स, नर्सिंग ऑफिसर, डॉक्टर, फार्मासिस्ट, रेडियोग्राफर और अन्य तकनीकी तथा पैरामेडिकल पदों पर भी भर्ती की जा रही हैं। गृह मंत्रालय द्वारा भी विभिन्‍न केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) में बड़ी संख्या में पदों की भर्ती की जा रही हैं। 

प्रधानमंत्री ने कर्मयोगी प्रारंभ मॉड्यूल का भी शुभारंभ किया। यह मॉड्यूल विभिन्न सरकारी विभागों में सभी नए नियुक्तियों के लिए एक ऑनलाइन ओरिएंटेशन पाठ्यक्रम है। इस पाठ्यक्रम में सरकारी कर्मचारियों के लिए आचार संहिता, कार्यस्थल में नैतिकता और अखंडता, मानव संसाधन नीतियां तथा अन्य लाभ और भत्ते शामिल होंगे जो उन्हें नीतियों के अनुकूल बनाने और नई भूमिकाओं में आसानी से बदलाव करने में मदद करेंगे। उन्हें अपने ज्ञान, कौशल और क्षमताओं को बढ़ाने के लिए igotkarmayogi.gov.in प्लेटफॉर्म पर अन्य पाठ्यक्रमों का पता लगाने का भी अवसर प्राप्‍त होगा।

यह भी पढ़ें
Budget 2023: कैसा हो देश का अगला बजट, विशेषज्ञों के साथ बैठकर निर्मला सीतारमण ने शुरू किया मंथन
PM बोले- कांग्रेसी नेता कह रहे हैं नरेंद्र मोदी को औकात बता देंगे, मैं सेवक हूं, मेरी कोई औकात नहीं

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios