Asianet News Hindi

घर से निकले तो हो सकता है फोन ट्रेस, स्वास्थ्यकर्मियों की जान गई तो दिल्ली सरकार देगी 1 करोड़ रुपए

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, कोरोना के चलते 766 लोग हॉस्पिटल में भर्ती हैं। इनमें से 112 पॉजिटिव हैं बाकी संदिग्ध हैं। 112 में से एक वेंटिलेटर पर 2 ऑक्सीजन पर बाकी 109 की स्थिति सामान्य है।  

Arvind Kejriwal announced Corona compensation of one crore on death of a doctor kpn
Author
New Delhi, First Published Apr 1, 2020, 6:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना से लड़ रहे डॉक्टर्स के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा, कोरोना से लड़ते हुए प्राइवेट या सरकारी किसी भी कर्मचारी, डॉक्टर, नर्स, सफाईकर्मी की मौत हो जाती है तो दिल्ली सरकार उनके परिवार को 1 करोड़ रुपए देगी। 

कोरोना की वजह से 766 लोग हॉस्पिटल में भर्ती

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, कोरोना के चलते 766 लोग हॉस्पिटल में भर्ती हैं। इनमें से 112 पॉजिटिव हैं बाकी संदिग्ध हैं। 112 में से एक वेंटिलेटर पर 2 ऑक्सीजन पर बाकी 109 की स्थिति सामान्य है। मरकज से निकाले गए 536 लोगों को अस्पताल में भर्ती और 1810 लोगों को क्वारंटीन किया गया है।

कोरोना अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन में नहीं

दिल्ली सीएम ने कहा, 120 में से 49 लोग विदेशों से आए थे और 24 लोग मरकज से निकले हैं। 29 कोरोना पॉजिटिव लोग विदेशों से आए लोगों के परिवार के सदस्य थे कोरोना के इस तरह के फैलाव को लोकल ट्रांसमिशन कहते हैं। कोरोना अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन में नहीं गया है।

कुछ लोगों को फोन ट्रेस करेगी पुलिस

उन्होंने कहा, पुलिस की मदद लेकर ऐसे सब लोग जिनको घर में रहने के आदेश दिए गए हैं। उनके पिछले कुछ दिनों के फोन ट्रेस किए जाएंगे। ये जांच की जाएगी कि वो अपने घर में रह रहे थे या नहीं। कल 11,084 नंबर पुलिस को ट्रेस करने के लिए दे दिए हैं।

568 स्कूलों और 238 रैन बरेसों में खिलाया जा रहा खाना

अरविंद केजरीवाल ने कहा, कोरोना से प्रभावित गरीबों के लिए दिल्ली के 568 स्कूलों और 238 रैन बसेरों में खाना खिलाने का काम शुरु कर दिया गया है। 4 लाख लोगों को खाना खिलाया जा रहा है। केजरीवाल ने राधा स्वामी इस्कॉन अक्षय पात्रा का भी धन्यवाद कहा जो खाना खिलाने में मदद कर रहे हैं। 

कुछ लोगों ने हमारी बात मानी और दिल्ली छोड़कर नहीं गए 

केजरीवाल ने कहा, पलायन करने वालों में कुछ लोगों ने हमारी बात मानी और दिल्ली छोड़कर नहीं गए। हालांकि कई सारे लोगों का कहना है कि हम अपने गांव जाना चाहते हैं क्योंकि उनको लग रहा है कि लॉकडाउन काफी दिनों तक चलेगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios