Asianet News Hindi

बलिया गोलीकांड: आरोपी की भाभी ने दी धमकी, बोलीं - हमारी FIR दर्ज नहीं की तो आत्मदाह करेंगी घर की औरतें

बलिया में लॉटरी को लेकर बैठक में दो पक्षों में हुए विवाद में चली गोली के मामले में अब मुख्य आरोपी की भाभी ने प्रशासन को धमकी दी है। उन्होंने कहा है कि पुलिस हमारी एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है। महिला ने कहा कि अगर पुलिस हमारी प्राथमिकी दर्ज नहीं की तो हमारे घर की 7 महिलाएं आत्मदाह कर लेंगी। 

Ballia firing: The accused's sister-in-law threatened the administration, said - If the FIR is not registered, the women of the house will commit suicide
Author
Lucknow, First Published Oct 23, 2020, 1:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के दुर्जनपुर गांव में एक कोटे की दुकान को लेकर हुई हत्या पर बवाल मच गया है। लॉटरी को लेकर बैठक में दो पक्षों में हुए विवाद में चली गोली के मामले में अब मुख्य आरोपी की भाभी ने प्रशासन को धमकी दी है। उन्होंने कहा है कि पुलिस हमारी एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है। महिला ने कहा कि अगर पुलिस हमारी प्राथमिकी दर्ज नहीं की तो हमारे घर की 7 महिलाएं आत्मदाह कर लेंगी। 

आरोपी की भाभी की इस चेतावनी के बाद बलिया पुलिस और जिला प्रशासन सतर्क हो गए है। इसके साथ ही पुलिस और परिवार के अन्य परिजन, आरोपी के परिवार को मनाने के लिए उनके घर पहुंच गए हैं। हालांकि महिलाएं इस विषय में किसी की सुनने को तैयार नहीं हैं।

15 अक्टूबर को हुई थी जयप्रकाश की हत्या

दरअसल, दुर्जनपुर गांव के पंचायत भवन में 15 अक्टूबर को हनुमानगंज और दुर्जनपुर की कोटे की दुकानों की लॉटरी को लेकर खुली बैठक की जा रही थी। इस दौरान विवाद हो गया और दोनों पक्ष झगड़ने लगे। प्रशासन के विरोध में नारेबाजी हुई। देखते ही देखते ईंट-पत्थर चलने लगे। इस दौरान पुलिस के सामने ही धीरेंद्र ने फायरिंग कर दी। इससे जयप्रकाश पाल की गोली लगने से मौत हो गई। 

8 नामदज और 25 अज्ञातों के खिलाफ दर्ज किया था केस

पुलिस ने इस मामले में धीरेंद्र समेत 8 नामजद और 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। घटना के 72 घंटे के बाद यूपी STF ने लखनऊ के पॉलीटेक्निक चौराहे से धीरेंद्र को गिरफ्तार किया था।

रिमांड पर हो रही धीरेंद्र से पूछताछ

सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने मुख्य आरोपी धीरेंद्र को रिमांड पर ले रखा है। गुरुवार को उससे रेवती थाने के प्रभारी प्रवीण कुमार सिंह ने भी पूछताछ की थी। पूछताछ के बाद पुलिस धीरेंद्र को दुर्जनपुर में उसके घर पर ले गई थीं। घर पहुंचते ही आरोपी के परिवार की महिलाएं उससे गले लग रोने लगीं। बलिया के CJM कोर्ट ने बुधवार को धीरेंद्र की 3 दिन की पुलिस रिमांड मंजूर की थी, जो आज पूरी हो रही है। इससे पहले आरोपी धीरेंद्र ने अपनी गिरफ्तारी से पहले एक विडियो जारी कर कहा था कि वह निर्दोष है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios