Asianet News HindiAsianet News Hindi

बीजेपी ने स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो जारी कर कहा- अरविंद केजरीवाल ने लिए शराब कारोबारियों से पैसे

भाजपा ने स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो जारी कर अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर शराब कारोबारियों से कमिशन लेने का आरोप लगाया। संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली के लोगों के पैसे केजरीवाल ने ब्लैक मनी के रूप में अपनी जेब में डाले।

BJP released sting operation video said Kejriwal took money from liquor traders vva
Author
First Published Sep 5, 2022, 1:28 PM IST

नई दिल्ली। भाजपा ने एक स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो जारी कर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर शराब कारोबारियों से पैसे लेने का आरोप लगाया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा नेता संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली सरकार जानबूझकर शराब ठेकेदारों को फायदा पहुंचा रही थी और इसके बदले उनसे पैसे वसूल रही थी। 

भाजपा ने दावा किया कि स्टिंग वीडियो में बोल रहा व्यक्ति कुलविंदर मारवाह है। वह दिल्ली एक्साइज स्कैम मामले में सीबीआई द्वारा दर्ज किए गए एफआईआर में 13वें नंबर के आरोपी शनि मारवाह के पिता हैं। वीडियो में कुलविंदर मारवाह यह कहते सुने जा सकते हैं कि किस तरह दिल्ली में शराब का खेल चल रहा था। वह कहते हैं कि एक रुपए के सामान पर 80 पैसे का फायदा होता है। हमने एक साल में 253 करोड़ दिए हैं। बाकियों से तो 500-500 करोड़ लिया है। वो कहते हैं कि हमें पैसे दे दो फिर जो चाहे करो। 

 

 

 

 

स्टिंग मास्टर का हो गया स्टिंग
संबित पात्रा ने कहा, "आज इस प्रेस कांफ्रेस के माध्यम से जो हम दिखाने वाले हैं, उसमें स्टिंग मास्टर का स्टिंग हो गया है। अरविंद केजरीवाल जब मुख्यमंत्री बने थे तब उन्होंने कहा था कि देखो जी अगर कोई भ्रष्टाचार करे तो आप उसका स्टिंग कर लेना। उसकी रिकॉडिंग कर लेना और हमें भेज देना। हम सच दिखा देंगे।"

यह भी पढ़ें-  गुजरात में भाजपा कार्यकर्ताओं से बोले केजरीवाल- BJP नहीं छोड़ें, अंदर रहकर AAP के लिए करें काम

संबित पात्रा ने कहा कि नई शराब नीति से जो लूट मची हुई थी उसका आज खुलासा हुआ है। 80% का लाभ दिल्ली की जनता की जेब से निकाल कर मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल ने दलाली के माध्यम से अपनी जेब में डाला। उन्होंने अपना कमीशन रख लिया और उसके बाद दिल्ली की जनता के साथ जो करना है करो, ये छूट ठेकेदारों को दे दिया। ब्लैक लिस्टेड कंपनियों को बुला-बुला कर ठेके दिए गए। पूरे मामले में व्हाइट मनी को ब्लैक मनी में कनवर्ट करके केजरीवाल और सिसोदिया तक पैसा पहुंचाया जाता था।

यह भी पढ़ें-  अपनी ही पॉलिटिक्स में फंसी AAP, ऑपरेशन लोटस मामले की भाजपा ने LG से की फॉरेंसिक जांच की मांग, पढ़िए डिटेल्स

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios