Asianet News HindiAsianet News Hindi

CDS Bipin Rawat Chopper Crash: हवा में ही जलने लगा था हेलिकॉप्टर; ब्लैक बॉक्स से खुलेंगे राज़, हुआ क्या था?

तमिलनाडु (Tamil Nadu) के कुन्नूर (Coonoor) में हुए हेलिकॉप्टर हादसे (Helicopter Crash) में सीडीएस बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat) सहित 13 लोगों की मौत को लेकर अभी भी कई सवाल उलझे हुए हैं। सेना दुर्घटना की जांच कर रही है। ऐसे 5 सवाल हैं, जिनका जवाब खोजना बाकी है। घटनास्थल से प्लेन का ब्लैक बॉक्स मिल गया है।
 

CDS Bipin Rawat Chopper Crash, mysterious accident, black box missing KPA
Author
New Delhi, First Published Dec 9, 2021, 8:54 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देश के पहले CDS बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat) की हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मौत के बाद कई अनसुलझे सवाल हैं, जिन्हें सेना को अपनी जांच में खोजना है। बता दें कि तमिलनाडु (Tamil Nadu) के कुन्नूर (Coonoor) में 8 दिसंबर की दोपहर हुए हेलिकॉप्टर हादसे (Helicopter Crash) में सीडीएस बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat), उनकी पत्नी मधुलिका (Madhulika Rawat) समेत 13 लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) अकेले बचे हैं। वे बुरी तरह झुलस गए हैं और उनकी हालत गंभीर है। इस बीच IAF प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी(VR Chaudhari ) ने तमिलनाडु के DGP सी सिलेंद्र बाबू के साथ नीलगिरी जिले में कुन्नूर के पास हेलिकॉप्टर दुर्घटना स्थल का दौरा किया। पूर्व ब्रिगेडियर सुधीर सावंत ने किसी साजिश की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि इसके पीछे LTT के स्लीपर सेल की साजिश हो सकती है। इस इलाके में  लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (LTT) सक्रिय है। पूर्व ब्रिगेडियर ने घटना की NIA से जांच कराने की मांग उठाई है। अभी यह वायु सेना ने जांच के आदेश दिए हैं।

pic.twitter.com/M3dJ5409rL

ये हैं वो 5 सवाल, जिनका जवाब ढूंढ़ा जाना है
एक प्रत्यक्षदर्शी का कहना है कि हेलिकॉप्टर में हवा में ही आग लग गई थी। हालांकि प्लेन का ब्लैक बॉक्स मिल चुका है। अब इसकी रिकॉर्डिंग देखने के बाद हकीकत का पता चलेगा।

पहला सवाल:दुर्घटनाग्रस्त हेलिकॉप्टर का ब्लैक बॉक्स मिल चुका है। इससे अब पता चलेगा कि हेलिकॉप्टर में तकनीकी खराबी आई थी, मौसम खराब था या कुछ और वजह रही। बता दें कि ब्लैक बॉक्स हर प्लेन का सबसे जरूरी हिस्सा होता है। इसमें प्लेन की हर गतिविधियां रिकॉर्ड होती हैं। इसे या फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर भी कहते हैं। इसे सुरक्षा की दृष्टि से विमान के पिछले हिस्से में रखते हैं। यह मजबूत धातु टाइटेनियम का बना होता है। इसके बाद भी उसे टाइटेनियम के ही बने डिब्बे में बंद करते रखते हैं। ताकि किसी भी दुर्घटना के वक्त यह टूटे नहीं, नुकसान नहीं हो।

दूसरा सवाल: घटनास्थल पर मौजूद लोगों के बयान दुर्घटना को लेकर कई सवाल खड़े कर रहे हैं। हालांकि यह शक तभी दूर होगा, चूंकि अब ब्लैक बॉक्स मिल गया है, इसलिए जांच सही दिशा में आगे बढ़ेगी।

तीसरा सवाल: यह हादसा इसलिए कई सवालों के घेरे में हैं, क्योंकि बिपिन रावत इसमें सवार थे। बिपिन रावत देश के दुश्मन देशों के लिए एक बड़ी टेंशन थे। हालांकि अभी ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है, जिससे किसी साजिश का पता चले, लेकिन जांच हर एंगल से हो रही है।

चौथ सवाल: एक चश्मदीद के बयान ने दुर्घटना को लेकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। उसका दावा है कि हेलिकॉप्टर में हवा में ही आग लग गई थी। इसलिए सवाल उठ रहे हैं कि क्या हेलिकॉप्टर में हवा में ही तकनीकी समस्या आ गई थी या कुछ और बात है।

पांचवां सवाल: देश के एक महत्वपूर्ण व्यक्ति की इस तरह हादसे में मौत एक अलर्ट है, चाहे वो हेलिकॉप्टर में आ रहीं खराबियों की बात हो या कुछ और वजह।

pic.twitter.com/Tkl51oXQIW

यह भी पढ़ें
Bipin Rawat Passed Away: कई देशों ने जताया दुख, रूस ने कहा- भारत ने खो दिया अपना महान देश भक्त
VVIP मूवमेंट में होता है Mi-17 हेलिकॉप्टर का यूज, जानें CDS Bipin Rawat पत्नी के साथ कहां जा रहे थे
Bipin Rawat Chopper Crash: नीलगिरी जंगल में 2667 मीटर ऊंचे पहाड़ पर गिरा MI-17V5, देखें हादसे की तस्वीरें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios