Asianet News HindiAsianet News Hindi

'बीआरएस'(भारत राष्ट्र समिति) के वीआरएस (स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति) का समय आ गया है: जयराम रमेश

कांग्रेस प्रवक्ता जयराम रमेश ने कहा कि बीजेपी और टीआरएस में कोई फर्क नहीं है। दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दिल्ली वाले व हैदराबाद वाले में कोई अंतर नहीं है। इसलिए कह रहा हूं कि सुल्तान और निजाम में कोई अंतर नहीं है।

Congress Leader Jairam Ramesh takes on TRS, time for 'Bharat Rashtra Samithi' BRS to become VRS Voluntary Retirement Scheme, DVG
Author
First Published Oct 4, 2022, 8:56 PM IST

Congress takes on TRS: तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की पार्टी के नेशनल पार्टी के रूप में प्रस्तावित बदलाव पर कांग्रेस के प्रवक्ता जयराम रमेश ने हमला बोला है। उन्होंने कहा कि तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस और केंद्र में भाजपा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। अगर दिल्ली में सुल्तान हैं, हैदराबाद में निजाम हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के प्रस्तावित राष्ट्रीय संगठन 'बीआरएस'(भारत राष्ट्र समिति) के वीआरएस (स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना) बनने का समय आ गया है। राहुल गांधी की भारत जोड़ी यात्रा, न केवल भाजपा और आरएसएस के लिए, बल्कि टीआरएस के लिए भी एक संदेश है, जिसका चेहरा भाजपा जैसा ही है। 

सुल्तान और निजाम में कोई अंतर नहीं...

कांग्रेस प्रवक्ता जयराम रमेश ने कहा कि बीजेपी और टीआरएस में कोई फर्क नहीं है। दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दिल्ली वाले व हैदराबाद वाले में कोई अंतर नहीं है। इसलिए कह रहा हूं कि सुल्तान और निजाम में कोई अंतर नहीं है। तेलंगाना में टीआरएस के लिए संदेश है कि यह बीआरएस का समय नहीं है बल्कि वीआरएस लेने का है।

महंगाई, बेरोजगारी से पूरा देश चिंतित

जयराम रमेश ने कहा कि तीन चीजें हैं जिनसे आज पूरे भारत में लोग चिंतित हैं: महंगाई, बेरोजगारी, जीएसटी। देश में एक या दो बड़ी कंपनियों का एकाधिकार है, देश में आर्थिक असमानता बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि सामाजिक ध्रुवीकरण भी एक चिंतनीय मुद्दा है। इससे समाज को धर्म, जाति, भाषा, भोजन और पोशाक के आधार पर विभाजित किया जा रहा है।

मन की बात सुनाने के लिए यात्रा नहीं है भारत जोड़ो यात्रा

जयराम रमेश ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा, कोई मन की बात नहीं है जहां केवल लंबे-लंबे भाषण दिया जाता है। बल्कि यह लोगों की बातों को सुनने, उनके दु:ख-दर्द को समझने की यात्रा है। इस यात्रा में लोगों को सुनने काम किया जा रहा है।

केवल कांग्रेस में ही चुनाव कराकर अध्यक्ष चुना जाता

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस की एकमात्रा पार्टी है जो अपने अध्यक्ष पद का चुनाव कराती है। उन्होंने पूछा कि क्या टीआरएस भी कभी चुनाव कराएगी या बीजेपी में चुनाव होंगे।

दशहरा बाद यात्रा में सोनिया गांधी भी होंगी शामिल

रमेश ने कहा कि दशहरा की वजह से दो दिनों तक यात्रा को स्थगित किया जाएगा। 4 और 5 अक्टूबर को यात्रा रूकी रहेगी। 6 अक्टूबर से कर्नाटक के मांड्या से फिर से शुरू होगा। एआईसीसी अध्यक्ष सोनिया गांधी भी इसमें शामिल होंगी। यात्रा 24 अक्टूबर को तेलंगाना में प्रवेश करेगी और राज्य में 360 किलोमीटर की दूरी तय करेगी।

यह भी पढ़ें:

Nobel Prize in Physics 2022: इन तीन वैज्ञानिकों को अपने इस प्रयोग के लिए मिला पुरस्कार

द्रौपदी पर्वत शिखर पर हिमस्खलन: 10 पर्वतारोहियों की मौत, 11 की तलाश जारी, 8 को सुरक्षित निकाला गया

'साहब' ने अपने लिए खरीदी अवैध तरीके से 29 गाड़ियां, HC की तल्ख टिप्पणी-देश में घोटालों से बड़ा है जांच घोटाला

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios