नई दिल्ली. कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होते ही राजनीति भी गर्मा गई है। कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है। पहले कोरोना की रोकथाम में विफल रहने का आरोप, फिर लॉकडाउन में नाकामी का आरोप और अब कोरोना वैक्सीन को लेकर कांग्रेस ने फिर मोदी सरकार को 'डोज' देने की कोशिश की है। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरेजवाला ने वैक्सीन के 20 लाख डोज ब्राजील को निर्यात करने पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने वैक्सीनेशन के प्रचार को भी गलत बताया।

पहले जनता को वैक्सीन मिले
सुरजेवाला ने कहा कि जब भारत के लोगों को ही पर्याप्त वैक्सीन नहीं मिल पा रही है, तो ब्राजील को निर्यात क्यों किया जा रहा है? उन्होंने कहा कि भारत की पूरी जनसंख्या को वैक्सीन देने से पहले निर्यात नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि 'सभी के लिए कोरोना वैक्सीन' मोदी सरकार की नीति होनी चाहिए।

बता दें कि ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर वैक्सीन के 20 लाख डोज मांगे थे। इसके बाद भारत सरकार ने इसकी अनुमति दे दी। सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा विकसित कोविशील्ड की वैक्सीन लेने ब्राजी का एक विमान भारत आ चुका है।

कांग्रेस ने उठाई मुफ्त वैक्सीन की मांग
सुरजेवाला ने मोदी सरकार से सवाल पूछे कि कितने लोगों को वैक्सीन फ्री दी जाएगी? यह कहां मिलेगी? सुरेजावाला ने हवाल दिया कि भारत के ड्रग कंट्रोलर वीजी सोमानी के अनुसार मोदी सरकार ने वैक्सीन की 16.5 मिलियन (165 लाख) खुराकें मंगाई हैं (5.5 मिलियन कोवैक्सीन एवं 11 मिलियन कोवीशील्ड)। यानी हर व्यक्ति को 2 डोज देने के बाद 82.50 लाख डॉक्टर और कोरोना वॉरियर्स आदि को यह डोज मिलेगा। सुरजेवाला ने सवाल उठाया कि देश की 135 करोड़ जनता को वैक्सीन कैसे मिलेगी, सरकार यह बताए?

पोलियो अभियान का किया जिक्र...
सुरेजवाला ने कोरोना वैक्सीन की कीमत पर भी सवाल उठाए। उन्होंने यह भी कहा कि 2011 में कांग्रेस सरकार ने देश को पोलियो मुक्त बनाया। लेकिन कोरोना वैक्सीन को लेकर जो प्रचार हो रहा है, वो कभी नहीं हुआ।

यह भी पढ़ें

वैक्सिन अभियान के आगाज पर बोले सदगुरु वासुदेव जग्गी, सरकार ने मेरी उम्मीद से भी बहुत बेहतर काम किया

TMC विधायकों की 'गुंडागर्दी', वेक्सीनेशन प्रोग्राम में उड़ाई नियमों की धज्जियां, जबरन लगवाई वैक्सीन

कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरूआत के दौरान इमोशनल हुए मोदी, भर आया गला और किया इन्हें याद