कोलकाता. भारत में कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो चुका है। ऐसे में कहीं कोई अपनी पावर का गलत इस्तेमाल करके वैक्सीन को जबरन लगवा रहा है तो जिसे मिल रही है वो इसे लेने के लिए तैयार नहीं है। हरियाणा के किसानों को इसके नेगेटिव प्रभाव का डर सता रहा है और पश्चिम बंगाल में टीएमसी विधायक मनमानी चला रहे हैं। नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए उन्होंने कोरोना वैक्सीन लगवाई है। बताया जा रहा है कि भाटार विधानसभा सीट से टीएमसी विधायक ने शनिवार को जिला अस्पताल में कोरोना का टीका लगवाया है। विधायकों ने नियमों की उड़ाई धज्जियां...

इतना ही नहीं खबरों की मानें तो कहा जा रहा है कि भाटार विधानसभा सीट से टीएमसी विधायक के अलावा एक और विधायक ने नियमों को तोड़ा है। कहा जा रहा है कि कटवा विधानसभा सीट से रबी चटर्जी ने भी कोरोना वैक्सीन लगवाई है। बता दें, टीकाकरण के पहले दिन 3 लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 के टीके की खुराक दी जाएगी। इसके पहले चरण के लिए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कुल 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। 

यह भी पढ़ें: किसानों को वैक्सीन के नेगेटिव असर का डर, स्वास्थ्यकर्मियों को सेंटर से भगाया, साथ ही की ये मांग भी

पहले चरण में पहले इन्हें दी जानी है कोरोना वैक्सीन

सरकार के नियमों की मानें तो सबसे पहले एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले करीब दो करोड़ कर्मियों और फिर 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीके की खुराक दी जानी है। इसके बाद के चरणों में गंभीर रूप से बीमार 50 साल से कम उम्र के लोगों का टीकाकरण होना है। स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों पर टीकाकरण का खर्च सरकार वहन करेगी। 

गौरतलब है कि आज से यानी शनिवार 16 जनवरी से दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी वैक्सीनेशन ड्राइव को शुरू किया गया है। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव को शुभारंभ किया गया। सुबह 10.30 बजे के बाद से देश में कोरोना की वैक्सीन लगनी शुरू हो गई। 
 

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन के बीच शक के घेरे में बलदेव सिंह सिरसा, NIA ने जारी किया समन