Asianet News HindiAsianet News Hindi

Cyclone Jawad: आंध्र प्रदेश-ओडिशा में Alert, सेना तैनात; वेस्टर्न डिस्टर्बेंस से कश्मीर में बर्फबारी के आसार

उत्तर आंध्र प्रदेश और ओडिशा तट के आसपास के इलाकों में एक डीप डिप्रेशन के चलते चक्रवात जवाद (Cyclone Jawad) बन रहा है। यह 4 दिसंबर को आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा। इसे लेकर सेना को तैनात किया गया है।
 

Cyclone Jawad, Heavy rain alert in Andhra Pradesh and Odisha, PM Modi holds high level meeting KPA
Author
New Delhi, First Published Dec 3, 2021, 8:06 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. बंगाल की खाड़ी से उठे तूफान जवाद (Cyclone Jawad) को लेकर आंध्र प्रदेश और ओडिशा को अलर्ट किया गया है। उत्तर आंध्र प्रदेश और ओडिशा तट के आसपास के इलाकों में एक डीप डिप्रेशन के चलते चक्रवात जवाद (Cyclone Jawad) बन रहा है। यह 4 दिसंबर को आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा। इसे लेकर सेना को तैनात किया गया है। तूफान के खतरे के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) खुद सामने आए हैं। वे तूफान से निपटने किए जा रहे इंतजामों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। DG, NDRF अतुल करवाल ने बताया कि NDRF की कुल 46 टीमों को उड़ीसा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश भेजा गया है। 18 अन्य टीमें स्टैंडबाय पर हैं।

100 किमी की रफ्तार से चल सकती हैं हवाएं
भारतीय मौसम विभाग(IMD) के अनुसार जवाद 4 दिसंबर को आंध्र प्रदेश के तट से टकराते ही प्रचंड रूप ले सकता है। इससे शनिवार सुबह 100 की स्पीड से हवाएं चल सकती हैं। तूफान के चलते आंध्र प्रदेश, ओडिशा के अलावा पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में भारी बारिश हो सकती है। ओडिशा के चार जिले- गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर में रेड अलर्ट जारी किया गया है। सात जिलों- केंद्रपाड़ा, कटक, खुर्दा, नयागढ़, कंधमाल, रायगड़ा, कोरापुट जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

PM मोदी ने 2 दिसंबर को की थी मीटिंग
तूफान से निपटने के लिए गृह मंत्रालय चौबीसों घंटे स्थिति की समीक्षा कर रहा है। एनडीआरएफ की 29 टीमें प्रभावित होने वाले इलाकों में पहले से तैनात की जा चुकी हैं। इनके पास नावें, पेड़ काटने वाले उपकरण और दूरसंचार के जरूरी संसाधन मौजूद हैं। 33 टीमों को स्टैंडबाय पर रखा है। प्रधानमंत्री मोदी ने 2 दिसंबर को मीटिंग करके दोनों राज्यों को दिशा-निर्देश दिए थे।

पश्चिमी विक्षोभ से बढ़ेगी ठंड
इधर, पश्चिमी विक्षोभ(western disturbance active) के एक्टिव होने से 4 दिसंबर की शाम से जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी हो सकती है। इससे कई राज्यों में सर्दी बढ़ेगी। IMD के अनुसार  2000 मीटर की ऊंचाई वाले इलाकों में 2-3 इंच बर्फबारी हो सकती है। कुछ इलाकों में 6-7 इंच तक बर्फ गिर सकती है।

तूफान का असर
जवाद का असर कई राज्यों में दिखाई देगा। वाराणसी सहित पूर्वांचल के जिलों में हल्की बारिश संभावित है। मौसम विभाग ने राजस्थान, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, और मध्य प्रदेश में अगले 3 से 4 दिन के अंदर बारिश होने की संभावना जताई है। इधर, हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी शुरू हो गई है। गुरुवार को लाहौल स्पीति में बर्फबारी हुई। इससे मौसम बदलेगा।

यह भी पढ़ें
Weather Update: कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी; गुजरात में समुद्र में डूबी 14-15 बोट; कई मछुआरे लापता
CYCLONE JAWAD : तूफान से पहले तूफानी तैयारियां, एनडीआरएफ की 29 टीमें लगीं, मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios