तमिलनाडु में 'मैंडूस साइक्लोन' का खतरा मंडराया, IMD ने जारी किया अगले तीन दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट

| Dec 08 2022, 01:33 PM IST

तमिलनाडु में 'मैंडूस साइक्लोन' का खतरा मंडराया, IMD ने जारी किया अगले तीन दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट
तमिलनाडु में 'मैंडूस साइक्लोन' का खतरा मंडराया, IMD ने जारी किया अगले तीन दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

दक्षिण भारत में एक बार फिर आफत की बारिश का खतरा मंडरा रहा है। बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र(low pressure area) अब गहरे दबाव में बदल गया है। यह  चक्रवाती तूफान मैंडूस में बदलते ही तमिलनाडु तथा पुडुचेरी में मध्यम से भारी बारिश ला सकता है। 

चेन्नई. दक्षिण भारत में एक बार फिर आफत की बारिश का खतरा मंडरा रहा है। बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र(low pressure area) अब गहरे दबाव(deep pressure) में बदल गया है। यह चक्रवाती तूफान मैंडूस(Cyclonic storm Mandous) में बदलते ही तमिलनाडु तथा पुडुचेरी में मध्यम से भारी बारिश ला सकता है। भारतीय मौसम विभाग(IMD) के मुताबिक, इसके दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी, उत्तरी तमिलनाडु-पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तटों तक इसके पहुंचने के साथ ही अगले तीन दिनों तक भारी बारिश का पूर्वानुमान है। पढ़िए पूरी डिटेल्स...

Subscribe to get breaking news alerts

9 दिसंबर को चल सकती हैं 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं
IMD के अनुसार, चक्रवाती तूफान 'मैंडूस' 9 दिसंबर की आधी रात के आसपास 70 किमी प्रति घंटे की हवा की गति के साथ पुडुचेरी और श्रीहरिकोटा के बीच उत्तर तमिलनाडु, पुडुचेरी और आस-पास के दक्षिण आंध्र प्रदेश के तट को पार करेगा। IMD ने गुरुवार को घोषणा की कि चक्रवात मैंडूस (pronounced Man-Dous) कराईकल से 500 किमी दक्षिण पूर्व और चेन्नई से 580 किलोमीटर दूर है। इसके प्रभाव से अगले दो दिनों में चेन्नई और तमिलनाडु के अन्य जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

तूफान के पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और उत्तर तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों को पुडुचेरी और श्रीहरिकोटा के बीच 9 दिसंबर की आधी रात को 65-75 किमी प्रति घंटे की हवा की गति के साथ पार करने की संभावना है। इसके परिणामस्वरूप, 11 दिसंबर तक तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग के एक बुलेटिन के अनुसार, गुरुवार को कुड्डालोर, माइलादुथुराई, नागापट्टिनम, तिरुवरुर, तंजावुर और पुदुक्कोटई में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत बारिश होने की संभावना है। कांचीपुरम, चेंगलपट्टू, विल्लुपुरम, कल्लाकुरिची, पेरम्बलुर, अरियालुर, तिरुचिरापल्ली, शिवगंगा और रामनाथपुरम में भारी वर्षा होने की संभावना है। 

NDRF की टीमें तैनात
नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (NDRF) को राज्य और पुडुचेरी में तैनात किया गया है। जबकि छह टीमों को नागपट्टिनम, तंजावुर, तिरुवरुर, कुड्डलोर, माइलादुथुराई और चेन्नई जिलों में तैनात किया गया है। तीन को पुदुचेरी में दो और कराईकल में केंद्र शासित प्रदेश में तैनात किया गया है।

इन राज्यों में बारिश का अनुमान
मौसम विभाग और स्काईमेट वेदर के अनुसार, आजकल में  अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश और कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है। 8 और 9 दिसंबर को तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश में बारिश की गतिविधियां तेज होंगी। तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों और आंध्र प्रदेश के दक्षिण तट पर मध्यम से भारी बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर अति भारी बारिश हो सकती है। 9 दिसंबर को आंतरिक तमिलनाडु और रायलसीमा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ भारी बारिश संभव है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ(western disturbance) 8 से 11 दिसंबर के बीच जम्मू कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी दे सकता है। उत्तराखंड के ऊपरी इलाकों में हल्की बारिश और हिमपात हो सकता है।

पिछले दिन इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ भारी बारिश हुई।लक्षद्वीप में हल्की बारिश हुई। शेष देश में शुष्क मौसम रहा। दिल्ली और एनसीआर और मुंबई का वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में रहा।

यह भी पढ़ें
दिल्ली से पाकिस्तान तक हवा खराब, लाहौर में वीक में 3 दिन स्कूल बंद रखने का आदेश, जानिए पूरी डिटेल्स
OMG: दुनिया के सबसे बड़े मैंग्रोव फॉरेस्ट का यह हाल, कोई नहीं जानता कितने बाघों की इस तरह खालें खींच ली गईं