Asianet News HindiAsianet News Hindi

विमान में पहनना होगा मास्क, कोरोना के मामले बढ़ें तो DGCA ने एयरलाइंस से कहा- सख्ती से हो गाइडलाइन का पालन

DGCA ने भारत के विमानन कंपनियों से कहा है कि वे कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराएं। यात्रियों को विमान में मास्क पहनना होगा। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

DGCA asks airlines to strictly enforce COVID-19 protocol amid rise in cases vva
Author
New Delhi, First Published Aug 17, 2022, 7:34 PM IST

नई दिल्ली। भारत के विमानन नियामक DGCA (Directorate General of Civil Aviation) ने कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी आने के बाद एयरलाइंस कंपनियों से कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया है। 

देश भर में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच डीजीसीए ने सभी भारतीय विमानन कंपनियों से कहा है कि विमान में यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य करने के साथ ही सभी कोविड-19 प्रोटोकॉल को सख्ती से लागू करें। डीजीसीए ने एक बयान में कहा कि वह देश भर में विमानों में रैंडम जांच करेगा ताकि यह देखा जा सके कि कोविड​​-19 प्रोटोकॉल लागू किया जा रहा है या नहीं।

मास्क नहीं पहनने पर होगी कार्रवाई
डीजीसीए ने कहा कि एयरलाइंस को यह सुनिश्चित करना होगा कि यात्रियों ने पूरी यात्रा के दौरान फेस मास्क ठीक से पहना हो। यदि कोई यात्री निर्देशों का पालन नहीं करता है तो एयरलाइंस द्वारा यात्री के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। कोरोना के मरीजों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए एयरलाइंस को विमान के अंदर कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की सलाह दी गई है।

यह भी पढ़ें- दुनिया भर में इस्तेमाल होने वाले लगभग 60 प्रतिशत टीकों की आपूर्ति कर रहा भारत

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार भारत में बुधवार को कोरोना के 9,062 नए संक्रमित मिले हैं। अब तक कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,42,86,256 हो गई है, जबकि सक्रिय मामलों की संख्या 1,05,058 हो गई है। 

दिल्ली में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमण
दिल्ली में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने के मामलों में 100 फीसदी की तेजी आई है। दिल्ली स्टेट हेल्थ बुलेटिन के आंकड़े के अनुसार 1 अगस्त को अस्पतालों में कोरोना के 307 मरीज भर्ती थे। 16 अगस्त को हॉस्पीटल में भर्ती मरीजों की संख्या बढ़कर 588 हो गई है। इनमें से 205 ऑक्सीजन सपोर्ट और 22 वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।

यह भी पढ़ें- गृह मंत्रालय ने किया स्पष्ट, दिल्ली में रोहिंग्या शरणार्थियों को EWS फ्लैट देने का कोई निर्देश नहीं

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios