Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon Update: पूर्वोत्तर मप्र, झारखंड, छग, हिमाचल, उत्तराखंड आदि कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने आजकल में केरल, झारखंड, उत्तरी छत्तीसगढ़, पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश, दक्षिण-पूर्व उत्तर प्रदेश, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ स्थानों पर भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

Effect of southwest monsoon, weather department alert regarding heavy rain kpa
Author
First Published Aug 25, 2022, 7:30 AM IST

मौसम डेस्क.  देश के कई राज्यों में दक्षिण पश्चिमी मानसून(south west monsoon) की सक्रियता से भारी बारिश की संभावना जताई गई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि आजकल में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, केरल, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड के कुछ हिस्सों, उत्तरी छत्तीसगढ़, पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश, दक्षिण-पूर्व उत्तर प्रदेश, जम्मू कश्मीर के कुछ हिस्सों, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।(यह तस्वीर यूपी के प्रयागराज की है)

इन राज्यों में मध्यम या हल्की बारिश का अलर्ट
पूर्वोत्तर भारत, सिक्किम, ओडिशा के शेष हिस्सों, पूर्वी उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, बिहार के कुछ हिस्सों और पश्चिमी राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, गुजरात के कुछ हिस्सों, राजस्थान, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र और तेलंगाना में हल्की बारिश संभव है।

मप्र सरकार ने भारी बारिश, बाढ़ से हुए नुकसान के मुआवजे का आश्वासन
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को घोषणा की कि उनकी सरकार पिछले कुछ दिनों में राज्य में भारी बारिश और बाढ़ के कारण फसलों, संपत्तियों और अन्य के नुकसान के लिए लोगों को मुआवजा देगी। उन्होंने कई जिलों के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद यह घोषणा की। चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी फोन पर बात की और उन्हें राज्य में बाढ़ की स्थिति से अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने हेलीकॉप्टर से सबसे पहले विदिशा, सागर, भिंड, मुरैना और श्योपुर जिलों के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। चौहान बाद में नावों के माध्यम से पानी से घिरे गांवों में पहुंचे और स्थानीय निवासियों को सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया। चौहान ने हवाई सर्वेक्षण और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का नावों से दौरा करने के बाद कहा कि मुरैना, भिंड और श्योपुर जिलों के करीब 100 गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। विदिशा जिले में कई गांव अभी भी बेतवा नदी के पानी में डूबे हुए हैं, हालांकि बारिश रुक गई है।

राजस्थान बाढ़: दो दिनों में 4,000 से ज्यादा लोगों को बचाया गया
राजस्थान के कोटा, झालावाड़, बारां और बूंदी जिलों में पिछले दो दिनों में 4,000 से अधिक लोगों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। इस बीच, कोटा, बूंदी और बारां में स्कूल फिर से खुल गए, जबकि झालावाड़ में ये बंद रहे। मध्य प्रदेश और राजस्थान में बहुत भारी वर्षा के कारण चंबल, कालीसिंध, परवन, पार्वती और मेज नदियों में उफान आने और कालीसिंध, कोटा बैराज, जवाहर सागर, पार्वती बांध से पानी छोड़े जाने से कोटा, बूंदी, बारां, करौली, सवाई माधोपुर, झालावाड़ और धौलपुर जिले में बाढ़ की स्थिति है।

दिल्ली में महीने के अंत तक भारी बारिश की संभावना नहीं
दिल्ली के कुछ हिस्सों में बुधवार को बारिश हुई, लेकिन उमस ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने हफ्तेभर तक दिल्ली में आम तौर पर बादल छाए रहने और बहुत हल्की बारिश होने की संभावना जताई है। यानी अगस्त के अंत तक अच्छी बारिश की संभावना नहीं है। स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष (जलवायु परिवर्तन और मौसम विज्ञान) महेश पलावत ने कहा कि अगस्त के अंत तक दिल्ली में ज्यादा बारिश की उम्मीद नहीं है। बंगाल की खाड़ी के उत्तरी हिस्से में एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है। मॉडल दिखाते हैं कि यह झारखंड, छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश में उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ेगा। पलावत ने कहा कि इसके प्रभाव से दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में बारिश हो सकती है। स्काईमेट वेदर के लॉन्ग-रेंज फोरकास्ट के मुताबिक सितंबर के पहले पखवाड़े में कोई बड़ा वेदर सिस्टम विकसित होने की संभावना नहीं है, जिसका मतलब है कि बारिश की कमी बनी रह सकती है। 

पिछले दिन इन राज्यों में होती रही बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार,बीते दिन हिमाचल प्रदेश, सिक्किम, ओडिशा के उत्तरी तट, तटीय कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। पश्चिमी राजस्थान, लक्षद्वीप और तटीय आंध्र प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई।

पश्चिम बंगाल, झारखंड के शेष हिस्सों, उत्तरी गुजरात, पूर्वी और दक्षिणपूर्व राजस्थान, उत्तराखंड, जम्मू कश्मीर, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र और तमिलनाडु के शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। पूर्वोत्तर भारत, छत्तीसगढ़, आंतरिक ओडिशा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, तेलंगाना और आंतरिक तमिलनाडु में हल्की बारिश दर्ज की गई। जबकि आंतरिक कर्नाटक और पंजाब में एक-दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई।

यह भी पढ़ें
Monsoon Update: मप्र को मिली भारी बारिश से राहत, राजस्थान, गुजरात, बिहार, यूपी, छग के कुछ हिस्सों के लिए अलर्ट
राजस्थान में भयंकर बारिश: 5 जिलों में मची तबाही, माचिस की तीलियों की तरह बाढ़ में बह रही गाड़ियां

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios