Asianet News HindiAsianet News Hindi

GOOD NEWS: यूरोप में बच्चों 12-17 साल के बच्चों के लिए मॉर्डना की स्पाइकवैक्स कोविड वैक्सीन को मंजूरी

यूरोपियन यूनियन(EMA) ने 12-17 साल के बच्चों के लिए मॉडर्ना की कोरोना वैक्सीन स्पाइकवैक्स को अप्रूवल दे दिया है। इस वैक्सीन के मेडिकल ट्रायल में 3700 से अधिक बच्चों में सकारात्मक परिणाम सामने आए थे।

European Union approves Moderna Spikevax corona vaccine for children kpa
Author
New Delhi, First Published Jul 24, 2021, 10:18 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रही दुनिया के लिए एक अच्छी खबर है। यूरोपियन यूनियन(EMA) ने 12 से 17 साल की उम्र के बच्चों के लिए दूसरी कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। यह है मॉर्डना की स्पाइकवैक्स। इससे पहले इसी उम्र के बच्चों के लिए EMA ने मई में फाइजर की वैक्सीन को मंजूरी दी थी।इधर,ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, नई दिल्ली(AIIMS) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि बच्चों के लिए कोवैक्सीन का ट्रायल जारी है। सितंबर तक इसके आंकड़े सार्वजनिक हो सकते हैं। 

स्पाइकवैक्स का रिजल्ट बेहतर निकला
स्पाइकवैक्स वैक्सीन के लिए 12 से 17 साल की उम्र के 3732 बच्चों पर क्लिनिकल ट्रायल किया गया था। इसके पाया गया कि बच्चों में जबर्दस्त एंडीबॉडीज बनीं। यानी ठीक वैसी, जैसा 18 से 25 साल की उम्र के लोगों में देखी गईं। इस वैक्सीन की 4 हफ्ते के अंतर पर दो डोज लगाई जाएंगी।

12 साल से कम उम्र के बच्चों पर हो रहा ट्रायल
इस बीच फाइजर ने 12 साल से कम उम्र के बच्चों पर ट्रायल शुरू किया है। इसके लिए 4 देशों से 4500 बच्चे चुने गए हैं। इससे पहले मई में एस्ट्राजेनेका ने 6 से 17 साल तक के बच्चों पर ब्रिटेन में स्टडी शुरू कर दी थी। जॉनसन एंड जॉनसन पर बच्चों की वैक्सीन पर काम कर रहा है। चीन की सिनोवैक ने अपनी वैक्सीन का असर 3 साल तक के बच्चों पर प्रभावी बताया है।

यह भी पढ़ें
रूस में कोरोना की तीसरी लहर की आहट: डेल्टा के बाद गामा वेरिएंट के मरीज मिलने शुरू, जानें क्या है खतरा?
भारत में कोरोना: फिर मिले 39 हजार केस, रिकवरी कम; 10 राज्यों में 90% एक्टिव केस

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios