Asianet News HindiAsianet News Hindi

Godawan समूह की 200 करोड़ की प्रॉपर्टी 25 करोड़ में बेचने वाले SBI के पूर्व चेयरमैन प्रतीप चौधरी अरेस्ट

Godawan समूह के जुड़े 200 करोड़ रुपए के लोन घोटाले(loan scam) में जैसलमेर पुलिस ने स्टेट बैंक आफ इंडिया(SBI) के पूर्व चेयरमैन प्रतीप चौधरी को उनके दिल्ली आवास से गिरफ्तार किया है।

Ex SBI chairman Pratip Chaudhuri arrested in loan scam case
Author
New Delhi, First Published Nov 1, 2021, 3:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. Godawan समूह के जुड़े 200 करोड़ रुपए के लोन घोटाले(loan scam) में जैसलमेर पुलिस ने स्टेट बैंक आफ इंडिया(SBI) के पूर्व चेयरमैन प्रतीप चौधरी को उनके दिल्ली आवास से गिरफ्तार किया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, Godawan समूह ने 2008 में SBI से 24 करोड़ रुपये का लोन होटल बनाने के लिए लिया था। आरोप है कि प्रतीप चौधरी ने 200 करोड़ की प्रॉपर्टी को सिर्फ 25 करोड़ में बेच दिया था। यह प्रॉपर्टी  Godawan समूह  की थी। ग्रुप समय पर लोन चुकता नहीं कर पाया था, जिस पर बैंक ने प्रॉपर्टी सीज कर दी थी। Godawan समूह  ने आरोप लगाया था कि प्रतीप ने मार्केट वैल्यू से कम में उसकी प्रॉपर्टी बेच दी। 2017 मेंअपने कार्यकाल के दौरान चौधरी ने इस प्रॉपर्टी को Alchemist Aseet Reconstruction Company (ARC) को बेच दिया था।

यह भी पढ़ें-Money Laundering Case: आखिरकार ऐसे पीछे हाथ बांधे ED ऑफिस पहुंचे महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख

Godawan समूह ने कोर्ट का किया था रुख
इस मामले में Godawan समूह ने कोर्ट में केस लगाया था। प्रतीप चौधरी रिटायर होने के बाद Alchemist Aseet Reconstruction Company (ARC) के डायरेक्टर बन गए थे। चौधरी को रविवार को दिल्ली स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया गया था। उन्हें सोमवार को जैसलमेन के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट(CJM) की कोर्ट में पेश किया गया। जैसलमेर की सदर थाना पुलिस ने उसे पकड़ा है। चौधरी ने यह प्रॉपर्टी NPA (Non Performing Asset) के तहत बेच दी थी। इस मामले में आरके कपूर, एसवी वेंकटकृष्णन, शशि मेथादिल, देवेंद्र जैन, तरुण और विजय किशोर सक्सेना के खिलाफ भी गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था।

यह भी पढ़ें-Aryan Khan Drug Case: नवाब का आरोप-फडणवीस कराते हैं ड्रग्स का धंधा,मिला जवाब-अंडरवर्ल्ड से हैं मलिक के रिश्ते

Godawan समूह ने कंस्ट्रक्शन के लिए लिया था लोन
पुलिस में दर्ज शिकायत के अनुसार, Godawan समूह ने 2008 में अपने होटल के कंस्ट्रक्शन के लिए SBI से 24 करोड़ रुपए का लोन लिया था। उस समय ग्रुप का होटल अच्छा चल रहा था। लेकिन बाद में उसकी माली हालत खराब हो गई। ऐसे में ग्रुप लोन समय पर नहीं चुका पा रहा था। बैंक ने इस ग्रुप के दोनों होटल गैर निष्पादित परिसम्पत्ति(non-performing asset) मानकर जब्त कर लिए थे। तब बैंक के चेयरमैन प्रतीप चौधरी थे। प्रतीप ने फ्रॉड करके दोनों होटल सिर्फ 25 करोड़ में उस कंपनी को बेच दिए, जिसके बाद में वे डायरेक्टर बने। इस मामले में जैसलमेर की CJM कोर्ट ने प्रतीप चौधरी की गिरफ्तारी के आदेश दिए थे।

यह भी पढ़ें-Incredible Nature: पुरी के 'समुद्र बीच' की ये खूबसूरत तस्वीरें फेमस सेंड आर्टिस्ट पटनायक ने शेयर की हैं

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios