Asianet News Hindi

'वंदे भारत मिशन' से अपने-अपने वतन लौटे 90 लाख लोग, दुनिया के सबसे बड़े मिशन ने बहुत कुछ सिखाया

कोरोनाकाल में दुनियाभर में फंसे लोगों को अपने-अपने देश वापस पहुंचाने के लिए भारत में पिछले साल शुरू किए वंदे भारत मिशन के तहत अब तक 90 लाख लोगों की स्वदेश वापसी हुई है। यह जानकारी केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दी। वे मानते हैं कि इस मिशन ने भारत को बहुत कुछ सिखाया है।

Facts about World largest repatriation mission Vande Bharat Mission kpa
Author
New Delhi, First Published Jun 7, 2021, 9:04 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोनाकाल ने दुनिया को बहुत कुछ सिखाया है। संघर्ष के बीच जीना और मुश्किलों से कैसे लड़ा जाता है, यह सब अच्छे से सिखा दिया। ऐसा ही मानते हैं केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी। पुरी ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये बताया कि दुनिया के सबसे बड़े प्रत्यार्वतन मिशन(World's largest repatriation mission) वंदे भारत मिशन के तहत 6 मई, 2020 से 6 मई, 2021 तक 90 लाख से अधिक लोगों को अपने-अपने देश पहुंचाया गया। अकेले 6 जून को ही इस मिशन के अंतर्गत 3479 लोगों की भारत वापसी हुई। इनमें सऊदी अरब से 65, संयुक्त अरब अमीरात से 320, कतर से 47, मलेशिया से 93 लोग भी शामिल हैं।

 

 pic.twitter.com/XYxd2v4kZc

 

यह भी पढ़ें-इजरायल, सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया के लिए 30 अक्टूबर तक 'एयर बबल एग्रीमेंट' के तहत उड़ानें, देखें लिस्ट

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios