Asianet News HindiAsianet News Hindi

दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन के दौरान नदी में अचानक आई बाढ़, 8 डूबे, एक दर्जन से अधिक लापता

बाढ़ की वजह से विसर्जन के लिए प्रतिमाओं को लेकर पहुंचे 8 श्रद्धालु डूब गए। जबकि एक दर्जन से अधिक लापता हैं। मौके पर तैनात रेस्क्यू टीम ने 50 से अधिक लोगों को अभी तक बचाया है।

Flash flood in Mal River in Mal Bazar city Durga Puja utsav idol immersion, DVG
Author
First Published Oct 5, 2022, 11:13 PM IST

Mal River Flood: दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन के समय Mal नदी में आए अचानक से बाढ़ से बड़ा हादसा हो गया। इस बाढ़ की वजह से विसर्जन के लिए प्रतिमाओं को लेकर पहुंचे कम से कम 8 श्रद्धालुओं की मौत हो गई है। जबकि एक दर्जन से अधिक लापता हैं। मौके पर तैनात रेस्क्यू टीम ने 50 से अधिक लोगों को अभी तक बचाया है। घटना जलपाईगुड़ी क्षेत्र के मालबाजार शहर की है। खबर लिखे जाने तक जिला प्रशासन की देखरेख में एनडीआरएफ की टीम बचाव कार्य में लगी हुई थी।

आठ शवों को निकाला गया

जलपाईगुड़ी की जिलाधिकारी मौमिता गोदारा ने कहा कि अचानक अचानक आई बाढ़ और लोग बह गए। अब तक आठ शव निकाले जा चुके हैं और हमने करीब 50 लोगों को बचाया है। उन्होंने कहा कि मामूली रूप से घायल हुए 13 लोगों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिस और स्थानीय प्रशासन की टीमें तलाशी और बचाव अभियान चला रही हैं। 

गोद में लिए नाती को बचा लिया लेकिन खुद डूब गए

इस हादसे में मरने वालों में एक बुजुर्ग भी शामिल हैं जिन्होंने हादसे के वक्त अपनी गोद में एक बच्चे को लिया था। जब बाढ़ आई तो वह खुद डूबने लगे। मौत को करीब देख उन्होंने गोद में लिए नाती को बचाने के लिए नदी से बाहर फेंक दिया। वह बुजुर्ग खुद तो डूब गए लेकिन उनका नाती बच गया। बुजुर्ग, मालबाजार शहर में अरुणा ड्रेसर्स का मालिक है। वह अपने पोते को गोद में लिए हुए विसर्जन को देखते पहुंचे थे। किनारे खड़े थे कि अचानक से बाढ़ आ गई। रेस्क्यू टीम ने बुजुर्ग के शव को बाहर निकाल लिया है।

कम से कम 50 लोगों को बचाया गया, दर्जनों लापता 

प्रशासन के अनुसार, बाढ़ के पानी में बह जाने के बाद नदी में एक द्वीप में लगभग 50 लोग फंस गए हैं। उनको निकालने का प्रयास किया जा रहा है। अंधेरा होने की वजह से बचाव कार्य में तेजी नहीं आ पा रही है। बारिश भी रुक-रुककर हो रही है। मूर्ति विसर्जन के समय यह हादसा हुआ। नदी के किनारे उस समय हजारों लोग मौजूद थे। रेस्क्यू टीम के अनुसार इस हादसे में कम से कम 8 लोगों की मौत हो गई है।

काफी कम पानी होता है इस नदी में...

मल नदी को शांत नदी के रूप में जाना जाता है। बरसात के मौसम के अलावा, इस नदी में साल के अन्य समय में ज्यादा पानी नहीं होता है। लेकिन इस साल उत्तर बंगाल में भारी बारिश हुई है। मंगलवार को जोरदार बारिश हुई। स्थानीय लोगों के मुताबिक ऊंचे पहाड़ों में कहीं पानी जमा हो गया था और अचानक से बाढ़ का पानी नीचे आ गया। जिसकी वजह से प्रतिमा विसर्जन करने पहुंचे लोग उसमें समा गए। काफी संख्या में लोग लापता हो गए। हर ओर चीख पुकार मच गई।

यह भी पढ़ें: 

कुल्लू अंतरराष्ट्रीय दशहरा महोत्सव में पीएम मोदी ने कहा-दुनिया हमारे भारतीय समाज व जीवन को देखने को लालायित

अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा: प्रधानमंत्री का कुल्लू में हुआ जोरदार स्वागत

Russia की परमाणु हमले की धमकी से डरी दुनिया, PM Modi ने परमाणु संयंत्रों की सुरक्षा पर जेलेंस्की से की बात

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios