Asianet News HindiAsianet News Hindi

BRO ने बनाई दुनिया की सबसे ऊंची सड़क, Guinness World Records में हुई दर्ज

बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन ने दुनिया की सबसे ऊंची सड़क बनाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। लद्दाख के उमलिंगला पास (Umlingla Pass) पर 19024 फीट की ऊंचाई पर सड़क निर्माण हुआ है।

Guinness World Records Border Roads Organisation Umlingla Pass Road
Author
New Delhi, First Published Nov 16, 2021, 5:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। भारतीय सेना (Indian Army) के बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन (Border Roads Organisation) ने दुनिया की सबसे ऊंची सड़क बनाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। लद्दाख के उमलिंगला पास (Umlingla Pass) पर 19024 फीट की ऊंचाई पर सड़क बनाकर बीआरओ ने यह कामयाबी पाई है। डायरेक्टर जनरल बॉर्डर रोड्स लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चौधरी ने मंगलवार को गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (Guinness World Records) से सर्टिफिकेट प्राप्त किया।

इससे पहले दुनिया की सबसे ऊंची सड़क बोलिविया में थी। बोलिविया के उतुरुंसू ज्वालामुखी के पास स्थित सड़क की समुद्र तल से ऊंचाई 18,953 फीट है। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने बीआरओ के दावे की सत्यता की जांच की प्रक्रिया में चार माह का समय लगाया। पांच अलग-अलग सर्वेक्षकों ने दावे की पुष्टि की तक गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने बीआरओ को दुनिया की सबसे ऊंची सड़क बनाने का प्रमाण पत्र दिया।

52 किलोमीटर लंबी है सड़क
52 किलोमीटर लंबी यह सड़क पूर्वी लद्दाख के चुमार सेक्टर के महत्वपूर्ण कस्बों को जोड़ती है। लेह के चिसुमले से डेमचोक तक बनी यह सड़क उमलिंगला पास पर 19,024 फीट की ऊंचाई से गुजरती है। हिमालय पर्वत की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट के उत्तरी बेस कैंप (ऊंचाई 16,900 फीट) और दक्षिणी बेस कैंप ( ऊंचाई 17,598 फीट) से भी अधिक ऊंचाई पर सड़क बनाकर बीआरओ ने मील का पत्थर रखा है।

इस मौके पर लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चौधरी ने उमलिंगला पास पर सड़क बनाने के दौरान आई चुनौतियों के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि इतनी ऊंचाई पर सड़क बनाने के दौरान इंसान के साहस और मशीन की क्षमता की परीक्षा हुई। वह अत्यंत कठिन भूभाग है। सर्दियों में तापमान गिरकर माइनस 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। यहां ऑक्सीजन लेवल भी सामान्य से 50 फीसद से भी कम है। बता दें कि बीआरओ द्वारा बनाये गए इस सड़क से लद्दाख में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। यह सड़क पूर्वी लद्दाख के डेमचोक गांव तक जाती है। चीन से लगती सीमा के करीब होने के चलते इसका सामरिक महत्व भी बहुत अधिक है।

 

ये भी पढ़ें 
Purvanchal Expressway Inauguration: PM मोदी का अखिलेश पर तंज, बोले-'मेरे साथ खड़े होने में उन्हें शर्म आती थी'

ये हैं भारत की सबसे तेज रफ्तार ट्रेन, देखें किस Train की कितनी है Speed

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios