Asianet News HindiAsianet News Hindi

Purvanchal Expressway Inauguration: PM मोदी का अखिलेश पर तंज, बोले-'मेरे साथ खड़े होने में उन्हें शर्म आती थी'

यूपी चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण कर दिया है। करीब 341 किलोमीटर लंबा ये एक्सप्रेस-वे पूर्वी और पश्चिमी यूपी को जोड़ेगा। एक्सप्रेस-वे लखनऊ के चांद सराय से शुरू होगा और गाजीपुर तक पहुंचेगा। इसे बनाने में 22 हजार 497 करोड़ रुपए की लागत आई है। ये एक्सप्रेस-वे 9 जिलों लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होकर निकलेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने जुलाई 2018 में आजमगढ़ से इसकी आधारशिला रखी थी।

Purvanchal Expressway Inauguration PM Narendra Modi attacked SP President Akhilesh Yadav and questions on mafiaism poverty UDT
Author
Purvanchal Expressway (Under Construction), First Published Nov 16, 2021, 3:32 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सुल्तानपुर। यूपी चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण कर दिया है। करीब 341 किलोमीटर लंबा ये एक्सप्रेस-वे पूर्वी और पश्चिमी यूपी को जोड़ेगा। एक्सप्रेस-वे लखनऊ के चांद सराय से शुरू होगा और गाजीपुर तक पहुंचेगा। इसे बनाने में 22 हजार 497 करोड़ रुपए की लागत आई है। ये एक्सप्रेस-वे 9 जिलों लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होकर निकलेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने जुलाई 2018 में आजमगढ़ से इसकी आधारशिला रखी थी।

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तंज कसा और कहा- उनके कार्यकाल में राज्य के विकास में भेदभाव हुआ और यह विकास कुछ परिवारों तक सीमित था। यहां के नागरिकों को गरीबी के हवाले कर दिया गया था। पीएम ने कहा कि उन्हें खुशी है कि यह क्षेत्र विकास का नया अध्याय लिख रहा है। यह एक्सप्रेस-वे यूपी को तेज गति से बेहतर भविष्य की ओर ले जाएगा। यह यूपी के विकास का एक्सप्रेसवे है। यह नए यूपी के निर्माण का एक्सप्रेसवे है। पिछले मुख्यमंत्रियों के लिए विकास वहीं तक सीमित था जहां उनका परिवार और घर था। 

अखिलेश का बिना नाम लिए मोदी बोले- मेरे बगल में खड़े होने में शर्म आती थी उन्हें
मोदी ने कहा कि 2014 में जब मुझे सेवा का मौका दिया तो मैंने यहां के सांसद के नाते, प्रधानसेवक के नाते, मैंने उसकी बारीकियों में जाना शुरू किया। गरीबों को पक्के घर मिले, गरीबों के घर में शौचालय हो, महिलाओं को खुले में शौच के लिए बाहर न जाना पड़े, सबके घर में बिजली हो, ऐसे कितने ही काम थे, जो यहां किए जाने जरूरी थे, लेकिन मुझे बहुत पीड़ा है कि तब यूपी में जो सरकार थी, उसने मेरा साथ नहीं दिया। इतना ही नहीं, सार्वजनिक रूप से मेरे बगल में खड़े होने में भी उन्हें वोट बैंक नाराज होने से डर लगता था। उनको इतनी शर्म आती थी क्योंकि काम का हिसाब देने के लिए उनके पास कुछ था ही नहीं। मुझे मालूम था कि जिस तरह तब की सरकार ने, योगीजी के आने से पहले वाली सरकार ने, यूपी के लोगों के साथ नाइंसाफी की, जिस तरह विकास में भेदभाव किया, जिस तरह सिर्फ अपने परिवार का हित साधा, यूपी के लोग ऐसा करने वालों को हमेशा के लिए यूपी के विकास के रास्ते से हटा देंगे। मोदी ने कहा कि आपने अपनी सेवा का मौका दिया और आज यूपी में हो रहे विकास कार्यों को देखकर मैं कह सकता हूं कि इस क्षेत्र का, यूपी का भाग्य बदलना शुरू हो गया है और तेज गति से बदलने वाला भी है।

यहां के नागरिकों को गरीबी के हवाले कर दिया गया
मोदी ने कहा कि मैं इस एक्सप्रेस वे को समर्पित करते हुए अपने आप में धन्य महसूस कर रहा हूं। देश का संपूर्ण विकास करने के लिए देश का संतुलित विकास भी उतना ही आवश्यक है। कुछ क्षेत्र विकास की दौड़ में आगे चले जाएं और कुछ दशकों पीछे रह जाएं, ये असमानता किसी भी देश के लिए ठीक नहीं है। भारत में भी जो हमारा पूर्वी हिस्सा रहा है, ये पूर्वी भारत नॉर्थ ईस्ट के राज्य, विकास की इतनी संभावना होने के बावजूद इन्हें देश में हो रहे विकास का उतना लाभ नहीं मिला, जितना मिलना चाहिए था। यूपी में भी जिस तरह की राजनीति हुई, जिस तरह से लंबे समय तक सरकारें चलीं, उन्होंने यूपी के संपूर्ण विकास पर ध्यान ही नहीं दिया। यूपी का ये क्षेत्र तो माफियावाद और यहां के नागरिकों को गरीबी के हवाले कर दिया गया था।

सोचा नहीं था कि 3 साल बाद यहां विमान से उतरूंगा
मोदी ने कहा कि जिसे भी यूपी के सामर्थ्य पर संदेह हो, वो यहां आकर यूपी का सामर्थ्य देख सकता है। 3-4 साल पहले जहां सिर्फ जमीन थी, अब वहां से होकर इतना आधुनिक एक्सप्रेस-वे गुजर रहा है। जब 3 साल पहले मैंने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया था तो ये नहीं सोचा था कि एक दिन उसी एक्सप्रेस वे पर विमान से मैं खुद उतरूंगा। ये एक्सप्रेस वे यूपी को तेज गति से बेहतर भविष्य की ओर ले जाएगा। ये एक्सप्रेसवे यूपी के विकास का एक्सप्रेसवे है। ये यूपी की प्रगति का एक्सप्रेसवे है। ये नए यूपी के निर्माण का एक्सप्रेस वे है। ये यूपी की मजबूत होती अर्थव्यवस्था का एक्सप्रेस वे है। ये यूपी में आधुनिक होती सुविधाओं का प्रतिबिंब है। ये यूपी की दृढ़ इच्छाशक्ति का प्रकटीकरण है। ये यूपी में संकल्पों की सिद्धि का जीता जागता प्रमाण है। ये यूपी की शान है. ये यूपी का कमाल है।

सुल्तानपुर की धरती को प्रणाम किया
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिस धरती पर हनुमानजी ने कालनेमि का वध किया, उस धरती के लोगों के मैं पैर लागता हूं. यहां की मिट्टी में आजादी की लड़ाई की खुशबू आती है इस पावन धरती को आज पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सौगात मिल रही है, जिसका आप बहुत दिन से इंतजार कर रहे थे। आप सभी को बहुत-बहुत बधाई।

मोदी ने ये भी कहा...

  • पहले यूपी में कितनी बिजली कटौती होती थी, इसे कौन भूल सकता है। कौन भूल सकता है कि यूपी में कानून व्यवस्था की क्या हालत थी। कौन भूल सकता है कि यूपी में मेडिकल सुविधाओं की क्या स्थिति थी। यूपी में तो हालत ऐसे बना दिए गए थे कि यहां सड़कों पर राह नहीं होती थी, राहजनी होती थी। अब राहजनी करने वाले जेल में हैं और राहजनी नहीं, गांव-गांव नई राह बन रही है, नई सड़कें बन रही है।
  • बीते साढ़े 4 साल में यूपी में चाहे पूरब हो या पश्चिम, हजारों गांवों को नई सड़कों से जोड़ा गया है, हजारों किमी नई सड़कें बनाई गई हैं। अब आप सभी के सहयोग से, यूपी सरकार की सक्रिय भागीदारी से, यूपी के विकास का सपना अब साकार होता दिख रहा है।
  • आज यूपी में नए मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं, एम्स बन रहे हैं, आधुनिक शिक्षा संस्थान बन रहे हैं। कुछ हफ्ते पहले कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण किया और आज पूर्वांचल एक्सप्रेस वे आपको सौंपने का सौभाग्य मिला है।
  • इस एक्सप्रेस वे का लाभ गरीब को भी होगा और मध्यम वर्ग को भी, किसान की इससे मदद होगी और व्यापारी के लिए भी सुविधा होगी। श्रमिक, उद्यमी को भी लाभ होगा। दलित, युवा, पिछड़े, किसान, हर व्यक्ति को इसका फायदा होगा। निर्माण के दौरान भी इतने हजारों साथियों को रोजगार दिया और अब शुरू होने के बाद भी लाखों नए रोजगार के निर्माण का माध्यम बनेगा।
  • ये भी एक सच्चाई थी कि यूपी जैसे विशाल प्रदेश में पहले एक शहर दूसरे शहर से काफी हद तक कटा हुआ था. अलग-अलग हिस्सों में लोग जाते तो थे, लेकिन एक-दूसरे शहरों में कनेक्टिविटी न होने से परेशान रहते थे। पूरब के लोगों के लिए लखनऊ पहुंचना भी महाभारत जीतने जैसा होता था।
  • पिछले मुख्यमंत्रियों के लिए परिवार तक ही विकास सीमित था, लेकिन आज जितना पश्चिम का सम्मान है,उतनी ही पूर्वांचल के लिए भी प्राथमिकता है। ये एक्सप्रेस वे आज यूपी को आपस में जोड़ रहा है। इसके बनने से अवध, पूर्वांचल के साथ-साथ बिहार के लोगों को भी फायदा होगा। दिल्ली से बिहार आना-जाना और आसान हो जाएगा।

Purvanchal Expressway Inauguration Updates: एयरशो में राफेल-सुखोई और मिराज का टचडाउन, जमीन छूते ही हवा हो जाते हैं 

Purvanchal Expressway पर सफर करने से पहले जान लीजिए ये जरूरी बातें, नहीं तो बाद में पछताना पड़ेगा

विकास के पथ पर उत्तर प्रदेश! Purvanchal Expressway के साथ इन परियोजनाओं ने भी यूपी को बनाया 'एक्सप्रेस' प्रदेश

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios