Asianet News HindiAsianet News Hindi

भारी बारिश से पानी-पानी हुआ बेंगलुरु, सड़कें बनीं दरिया, कॉलोनियों में बाढ़ सी स्थिति

भारी बारिश से कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु पानी-पानी हो गया है। शहर के कई इलाकों में बाढ़ सी स्थिति है। प्रशासन को राहत और बचाव अभियान के लिए नावों का इस्तेमाल करना पड़ा है।
 

Heavy rain continues to batter Bengaluru residential areas flooded vva
Author
First Published Sep 5, 2022, 10:51 AM IST

बेंगलुरु। लगातार हो रही भारी बारिश से बेंगलुरु (Heavy rain in Bengaluru) में जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। सड़कों पर इतना अधिक पानी भर गया है कि जैसे वे नदियां हों। कॉलोनियों में बाढ़ सी स्थिति है। लोगों को खाने-पीने की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जल-जमाव वाले इलाके में यातायात ठप हो गया है।

जल जमाव से सबसे अधिक प्रभावित बेलंदूर, सरजापुरा रोड, व्हाइटफील्ड, आउटर रिंग रोड और बीईएमएल लेआउट का इलाका है। यहां स्थिति इतनी गंभीर है कि राहत और बचाव अभियान के लिए अधिकारियों को नावें भेजनी पड़ी हैं। जिन सड़कों पर गाड़ियां चल रहीं थी उनपर नावें तैरती नजर आ रहीं हैं।

लोगों ने सीएम से मांगी मदद
सोशल मीडिया पर बेंगलुरु में जल-जमाव के कई वीडियो शेयर किए गए हैं। इनमें देखा जा सकता है कि कैसे मराठाहल्ली के स्पाइस गार्डन इलाके में बाइक पानी में डूब गए हैं। भीषण जलभराव के कारण स्पाइस गार्डन से व्हाइटफील्ड तक का रास्ता बंद हो गया है। इलाके की कई पॉश सोसायटी को भी बाढ़ का सामना करना पड़ रहा है। पानी में फंसे लोगों ने मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई से मदद मांगी है।

 

 

बेंगलुरु के आउटर रिंग रोड पर यातायात जल जमाव से प्रभावित हुआ है। यह सड़क शहर को बेंगलुरु के बाहरी इलाके में स्थित टेक पार्क्स से जोड़ती है। इको स्पेस के पास ओआरआर बेलंदूर में बाढ़ सी स्थिति है। बारिश का पानी तेज रफ्तार से सड़क पर बह रहा है।

 

 

 

 

यह भी पढ़ें- मौसम विभाग की भविष्यवाणी सच, सितंबर में भी कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, जानिए पूरी डिटेल्स

कर्नाटक में 9 सितंबर तक होगी भारी बारिश 
दूसरी ओर, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कर्नाटक के लिए 9 सितंबर तक भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। बेंगलुरु, तटीय कर्नाटक के तीन जिलों और राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों में भारी बारिश की भविष्यवाणी की गई है। कोडागु, शिवमोग्गा, उत्तर कन्नड़, दक्षिण कन्नड़, उडुपी और चिकमगलूर जिलों में 5 से 9 सितंबर के बीच यलो अलर्ट जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें- साइरस मिस्त्री की एक्सीडेंट में मौत: यदि सीट बेल्ट पहने होते, तो बच जाती जान, आनंद महिंद्रा ने खाई ये सौगंध

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios