Asianet News Hindi

हैदराबाद में झील ओवरफ्लो होने से आई बाढ़, मलकाजगिरी में साढ़े 13 घंटे में 15 सेमी से ज्यादा पानी बरसा

हैदराबाद में शनिवार को एक बार फिर तेज बारिश हुई। यह रविवार सुबह तक जारी रही। शहर में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। निचले इलाकों में सड़कों पर कई फीट पानी जमा है। वहीं, शहर के बालानगर इलाके की झील ओवरफ्लो हो गई। इसके आसपास के इलाकों में पानी भर गया है। शहर का ट्रैफिक जाम हो गया। गाड़ियां बहती नजर आईं। 

Hyderabad to witness more heavy rain days Flash Floods In Some Parts KPP
Author
Hyderabad, First Published Oct 18, 2020, 1:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हैदराबाद. हैदराबाद में शनिवार को एक बार फिर तेज बारिश हुई। यह रविवार सुबह तक जारी रही। शहर में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। निचले इलाकों में सड़कों पर कई फीट पानी जमा है। वहीं, शहर के बालानगर इलाके की झील ओवरफ्लो हो गई। इसके आसपास के इलाकों में पानी भर गया है। शहर का ट्रैफिक जाम हो गया। गाड़ियां बहती नजर आईं। 

मेडचल मलकजगिरी के सिंगापुर टाउनशिप और उप्पल के पास बंडलगुडा में 15 सेमी से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड हुई। इसके अलावा नामपल्ली, अबिदस, कोठी, बशीरबाग, खैरताबाद, गोशमहल और विजयनगर कॉलोनी में सड़कों पर पानी भर गया।


तेज बारिश के चलते वाहनों को भी काफी नुकसान पहुंचा। 

तेलंगाना में बाढ़ से 50 लोगों की हुई मौत
हैदराबाद में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से 31 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि पूरे तेलंगाना में 50 लोगों की जानें गई हैं। पिछले हफ्ते तेलंगाना में मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है और बड़े पैमाने पर जान-माल का नुकसान हुआ है। राज्य के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है। वहीं, जिनका घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया, उसे नया घर बनाकर दिया जाएगा।


निचले क्षेत्रों में पानी भरने के बाद सड़क पार करते लोग।
 
आंध्रप्रदेश में 67,864 हेक्टेयर फसल बर्बाद
आंध्र प्रदेश में हुई बारिश से 67,864 हेक्टेयर से ज्यादा की फसल बर्बाद हो गई। सबसे ज्यादा नुकसान 8 जिलों में हुआ। आंध्र के विशाखपत्तनम में 5,435 हेक्टेयर, ईस्ट गोदावरी में 29,362 हेक्टेयर, वेस्ट गोदावरी में 15,926, कृष्णा में 12,466, गुंटूर में 381, वाईएसआर कडापा में 2,053, कुरनूल में 249 और श्रीकाकुलम में 1992 हेक्टेयर की फसल बर्बाद हुई। राज्य में करीब 900 किलोमीटर की सड़क भी खराब हुई है।

कर्नाटक में भी बाढ़ जैसी स्थिति
कर्नाटक में लगातार हो रही बारिश और प्रमुख बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण बाढ़ से हालात गंभीर हैं। उत्तर कर्नाटक 3 महीने में तीसरी बार बाढ़ का सामना कर रहा है। यहां बेलगावी, कलबुर्गी, रायचुर, यादगिर, कोप्पल, गोदाग, धारवाड़, बागलकोट, विजयपुरा और हावेरी बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। इन क्षेत्रों के तमाम गांव डूब गए हैं। वहीं फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios