जिस लड़की को चाहा उसे कोई और करने लगा प्यार, रास्ते के कांटे को दूर करने के लिए IIT के छात्र ने PM को दी धमकी

| Nov 28 2022, 11:13 AM IST

जिस लड़की को चाहा उसे कोई और करने लगा प्यार, रास्ते के कांटे को दूर करने के लिए IIT के छात्र ने PM को दी धमकी

सार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिली जान से मारने की धमकी के मामले में गुजरात एटीएस ने यूपी के बदायूं जिले से अमन सक्सेना नाम के युवक को पकड़ा है। आईआईटी बॉम्बे के छात्र अमन ने अपनी प्रेमिका के करीबी युवक को फंसाने के लिए पीएम को धमकी दी थी। 
 

अहमदाबाद। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिली जान से मारने की धमकी के मामले में गुजरात पुलिस के एंटी-टेररिस्ट स्क्वाड ने 25 साल के युवक को हिरासत में लिया है। अमन सक्सेना नाम के युवक को उत्तर प्रदेश के बदायूं जिसे से शनिवार रात पकड़ा गया। 

युवक के पकड़े जाने पर पता चला कि मामला लव ट्रायंगल से जुड़ा हुआ है। आईआईटी बॉम्बे से बीटेक की पढ़ाई कर चुका अमन एक लड़की को पसंद करता था। उस लड़की से एक दूसरा लड़का प्यार करने लगा। उस लड़के को लड़की से दूर करने के लिए अमन ने साजिश रची और पीएम को धमकी दे दी। 

Subscribe to get breaking news alerts

महिला के करीबी से लेना चाहता था बदला
गुजरात एटीएस की जांच में पता चला कि अमन ने बीते सोमवार को गुजरात के जामनगर में रैली के दौरान पीएम मोदी को धमकी भरा ईमेल भेजा था। उसने एक महिला के करीबी से बदला लेने के लिए ईमेल भेजा था। एटीएस के अधिकारी के अनुसार प्रधानमंत्री को धमकी दिए जाने के बाद गृह मंत्रालय ने गुजरात एटीएस को जांच सौंपा था। जांच के दौरान पता चला कि ईमेल बदायूं के आदर्शनगर में रहने वाले अमन सक्सेना ने भेजा था। 

इसके बाद एटीएस के दो अधिकारी बदायूं गए और अमन को पूछताछ के लिए बदायूं पुलिस स्टेशन ले जाया गया। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह एक लड़की से प्यार करता है। एक दूसरा आदमी उस लड़की के करीब है। अमन ने उस आदमी की पहचान पर पीएम को धमकी भेजी थी। अमन की कोशिश थी कि उस व्यक्ति को झूठे केस में फंसा दे। 

यह भी पढ़ें- फ्रेंड ने tweet किया-दोस्त दिल्ली में साइकिल चला रहा था, महंगी कार ने कुचल दिया, चर्चा में है ये एक्सीडेंट

पुलिस करेगी केस 
एटीएस के अधिकारी के अनुसार पुलिस हर संभावित एंगल से मामले की जांच कर रही है। अमन के खिलाफ गुमनाम संचार के माध्यम से धमकी देने के साथ-साथ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के तहत केस दर्ज किया जाएगा। शुरुआती जांच में सिर्फ सक्सेना द्वारा ईमेल भेजे जाने का संकेत मिल रहा है। अगर जांच में किसी और के शामिल होने की बात सामने आई तो उससे भी पूछताछ की जाएगी।

यह भी पढ़ें- बच्ची भूख से रो रही थी, बेरोजगार और बिटकॉइन में डूबे पिता ने उसे सीने से ऐसे दबाया कि तड़पकर मर गई मासूम

 
Read more Articles on