Asianet News HindiAsianet News Hindi

LAC पर Tension के बीच सीडीएस बिपिन रावत ने कहा-भारत हर परिस्थिति से निपटने तैयार है, पूरी तरह सुसज्जित

वास्तविक नियंत्रण रेखा(LAC) पर बढ़ते तनाव के बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने लोक लेखा समिति (Public Accounts Committee-PAC) के सदस्यों को भरोसा दिलाया है कि भारत हर विषम परिस्थिति से निपटने को तैयार है।

India China Tension, Fully prepared for any challenges on LAC, CDS Bipin Rawat
Author
New Delhi, First Published Oct 21, 2021, 9:16 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा(LAC) पर बढ़ते तनाव के बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत (Bipin Rawat) का कहना है कि भारत हर परिस्थिति से निपटने को तैयार है। उन्होंने कहा कि भारत मजबूती से जवाब देने की स्थिति में है। राबत ने यह भरोसा लोक लेखा समिति (Public Accounts Committee-PAC) के सदस्यों को दिलाया है। बता दें कि बुधवार को PAC की बैठक में CDS से लद्दाख क्षेत्र में अशांति के बारे में पूछा गया था। इस पर राबत ने कहा कि भारत अप्रत्याशित परिस्थितियों(unforeseen situations) से निपटने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा-'हम LAC पर पूरी तरह तैयार है। हम पूरी तरह से सुसज्जित(well equipped) हैं। हम एक मजबूत जवाब देने की स्थिति में हैं।' PAC के एक सदस्य ने अपना नाम जाहिर न करने की शर्त पर यह बात बताई।

इसलिए बुलाई गई थी यह बैठक
लोक लेखा समिति (Public Accounts Committee-PAC) की यह बैठक 2019 की C&AG रिपोर्ट के एजेंडे को लेकर बुलाई गई थी। 

इंडियन आर्मी ने LAC पर तैनात की नई एविएशन ब्रिगेड
हाल में इंडियन आर्मी ने LAC की सुरक्षा की जिम्मेदारी के लिए एक नई विमानन ब्रिगेड(aviation brigade) की स्थापना की है। यह दुश्मनों की निगरानी करेगी। नई ब्रिगेड की स्थापना मार्च में असम के मिसामारी में गई थी, जो तेजपुर के करीब है। इसके पास उन्नत हल्के हेलिकॉप्टर(ALH), चीता हेलिकॉप्टर और हेरॉन ड्रोन जैसी क्षमताएं हैं।  क्लिक करके पढ़ें

लगातार बढ़ रहीं चीन की हरकतें
हाल ही में भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे( Army Chief Gen MM Naravane) और भारतीय वायु सेना प्रमुख एसीएम वीआर चौधरी( Air Force Chief ACM VR Chaudhari) ने लद्दाख क्षेत्र में LAC के साथ चीनी सैनिकों और लड़ाकू विमानों की मौजूदगी पर चिंता व्यक्त की थी। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा था कि उनकी सेना किसी भी दुस्साहस से निपटने के लिए तैयार है। पिछले दिनों भारतीय सेना ने बयान में कहा कि शांति बनाए रखने के लिए चीन से LAC से पीछे हटने को कहा गया है। भारत ने कहा कि चीन की तरफ से एक-तरफा कार्रवाई(घुसपैठ) हुई है, यह दोनों देशों के बीच हुए करार का उल्लंघन है। क्लिक करके पढ़ें

पीछे हटने को राजी नहीं चीन
पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh)  में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास विवाद दूर करने भारत-चीन की पिछले दिनों हुई 13वें दौर की बातचीत का भी कोई हल नहीं निकला। हालांकि भारत ने चीन से कहा कि शांति बनाए रखने वो पीछे हट जाए। बता दें कि 17 महीने में 13 दौर की मीटिंग हो चुकी हैं। हालांकि इस दौरान LAC के फिंगर एरिया, कैलाश हिल रेंज और गोगरा इलाकों से डिसइंगेजमेंट(पीछे हटने) हो चुका है, लेकिन हॉट स्प्रिंग, डेमचोक और डेपसांग प्लेन्स में चीन लगातार तनाव की स्थिति बनाए हुए है। यह भी पढ़ें

pic.twitter.com/3XYvYjB1hY

pic.twitter.com/jb1sMzJfGD

pic.twitter.com/NUy8xhvBJH

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios