Asianet News HindiAsianet News Hindi

LAC पर Tension: भारत और चीन के बीच 13वें दौर की बैठक में भी नहीं सुलझा विवाद; पीछे हटने को राजी नहीं चीन

पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh)  में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास विवाद दूर करने भारत-चीन की 13वें दौर की बातचीत का कोई हल नहीं निकला है। हालांकि भारत ने चीन से कहा कि शांति बनाए रखने वो पीछे हट जाए।
 

tension on LAC, Stubborn China rejects India suggestions for peace
Author
New Delhi, First Published Oct 11, 2021, 10:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत और चीन (India-China) के बीच सीमा पर जारी विवाद को सुलझाने के लिए रविवार को हुई उच्चस्तरीय सैन्य वार्ता बेनतीजा रही है। 13वें राउंड (13th round talks) की यह बैठक चीन के तरफ मोल्दो (Moldo) में हुई। पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh)  में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास गतिरोध के बाकी स्थानों से सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए भारत के लद्दाख कोर कमांडर और चीनी दक्षिण शिनजियांग सैन्य जिला कमांडर के बीच यह बैठक हुई। (File Photo)

चीन का अड़ियल रुख बन रहा शांति में रोड़ा
भारतीय सेना ने बयान में कहा कि शांति बनाए रखने के लिए चीन से LAC से पीछे हटने को कहा गया है। भारत ने कहा कि चीन की तरफ से एक-तरफा कार्रवाई(घुसपैठ) हुई है, यह दोनों देशों के बीच हुए करार का उल्लंघन है। लेकिन चीन पीछे हटने को तैयार नहीं है। चीनी प्रतिनिधिमंडल ने भारत का प्रस्ताव नामंजूर कर दिया। बता दें कि 17 महीने में 13 दौर की मीटिंग हो चुकी हैं। हालांकि इस दौरान LAC के फिंगर एरिया, कैलाश हिल रेंज और गोगरा इलाकों से डिसइंगेजमेंट(पीछे हटने) हो चुका है, लेकिन हॉट स्प्रिंग, डेमचोक और डेपसांग प्लेन्स में चीन लगातार तनाव की स्थिति बनाए हुए है।

यह भी पढ़ें-तालिबान से दोस्ती; पाकिस्तान और चीन देख रहा फायदा; पर भारत के लिए ये 'तिकड़मी गठबंधन' एक बड़ा चैलेंज

चीन ने गलवान से जुड़े आपत्तिजनक फोटो जारी किए थे
इस बैठक में भारत की तरफ से लेह स्थित 14वीं कोर (फायर एंड फ्यूरी कोर) के कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने हिस्सा लिया। चीन की तरफ से दक्षिणी शिन्चियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट के कमांडर शामिल हुए। इस मीटिंग से एक दिन पहले चीन ने गलवान घाटी की हिंसा से जुड़ी आपत्तिजनक तस्वीरें जारी की थीं।

यह भी पढ़ें-अफगानिस्तान में बढ़ते आतंकवाद के बाद बदले चीन के सुर, कहा ये बाघ है और पालने वाले को भी खा जाता है

चीन लगातार करार कर उल्लंघन कर रहा है
बॉर्डर पर चीन की उकसाने वाली हरकतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। पूर्वी लद्दाख के साथ ही चीन अरुणाचल प्रदेश से सटे बॉर्डर पर भी घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा है। पिछले हफ्ते पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी(People's Liberation Army-PLA) के 200 से अधिक सैनिकों ने तिब्बत की तरफ से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) क्रॉस करने की कोशिश की। हालांकि भारतीय सेना ने उन्हें खदेड़ दिया। इससे पहले दोनों सेनाओं के बीच गर्मागरम बहस भी हुई। सूत्रों के मुताबिक, भारतीय सेना ने कुछ चीनी सैनिकों को पकड़ लिया था। बाद में उन्हें छोड़ा गया। हालांकि सेना इससे इनकार करती है। उत्तराखंड के बाराहोती सेक्टर से लगे बॉर्डर पर पिछले महीने चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी(PLA) भारतीय सीमा में घुसी थी। यहां चीन LAC पर सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है।

यह भी पढ़ें-बॉर्डर पर Tension: अरुणाचल में LAC क्रॉस करने की कोशिश कर रहे 200 चीनी सैनिकों को इंडियन आर्मी ने खदेड़ा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios