Asianet News HindiAsianet News Hindi

आतिशबाजी का मौसम आने के पहले ही देश के दस शहरों में हवा हुई जहरीली, टॉप टेन यूपी-हरियाणा की स्थिति गंभीर

प्रदूषण के मामले में दस बड़े शहरों में हरियाणा के पांच शहर और यूपी के तीन शहर शामिल है। अन्य दो शहरों में राजस्थान और दिल्ली के शहर हैं।

India ten cities have most polluted air, situations very critical in Uttar Pradesh-Delhi-haryana
Author
New Delhi, First Published Oct 17, 2021, 1:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। त्योहारों और किसानी का मौसम शुरू होने को है और देश की आबोहवा खराब पहले से ही बिगड़ चुकी है। दिवाली पर पटाखे छोड़े जाने के के बाद वायु प्रदूषण के चलते स्थितियां और खराब होने के आसार है। सबसे खराब स्थिति यूपी की है। देश के चार सबसे प्रदूषित शहरों में तीन शहर यूपी के हैं। राज्यों में दिल्ली, हरियाणा और यूपी में प्रदूषण का स्तर सबसे खराब है। देश के सबसे प्रदूषित शहरों (Most Polluted cities in India) में यूपी का बागपत (Bagpat) पहले स्‍थान पर है। बागपत का वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) 400 के पार पहुंच चुका है। 

दिल्‍ली की हवा भी काफी खराब 

प्रदूषण के मामले में दिल्ली राज्य की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। दिल्ली ही नहीं उसके आसपास के राज्यों के शहरों के हालात भी जुदा नहीं हैं। गाजियाबाद (Ghaziabad)व नोएडा (Noida)जो दिल्ली एनसीआर (Delhi NCR)का हिस्सा है, का प्रदूषण स्तर काफी ऊंचा है। 

टॉप टेन शहरों में हरियाणा के पांच शहर

प्रदूषण के मामले में दस बड़े शहरों में हरियाणा के पांच शहर और यूपी के तीन शहर शामिल है। अन्य दो शहरों में राजस्थान और दिल्ली के शहर हैं। इन प्रदूषित दस शहरों का स्‍तर 300 से 400 के बीच है। एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स के अनुसार, देश के सबसे प्रदूषित शहर बागपत का एक्यूआई 406 है। दूसरे स्‍थान पर गाजियाबाद का एक्‍यूआई 393 है। तीसरे स्‍थान पर पानीपत (393), चौथे स्‍थान पर नोएडा (364) है। पांचवे स्‍थान पर गुरुग्राम (351) और छठे स्‍थान पर दिल्‍ली (351) है। सातवें स्थान पर भिवाड़ी (347), आठवें स्थान पर फरीदाबाद (338), नौवें स्थान पर मानेसर (334) और दसवें रैंक पर बल्‍लभगढ़ (320) हैं।

एक्यूआई की कैसे की जाती है गणना?

एयर क्वालिटी इंडेक्स में प्रदूषण का स्‍तर 0-50 सबसे बेहतर माना जाता है। जबकि 51-100 को संतोषजनक, 101-200 तक मध्‍यम माना जाता है। 201-300 तक खराब, 301-400 तक बहुत खराब और 400-500 तक गंभीर माना जाता है।

यह भी पढ़ें:

केरल में बारिश से तबाही, भूस्खलन से कम से कम पांच लोगों की मौत, रेस्क्यू जारी

भारत का कोविड के खिलाफ जंग: वर्ल्ड बैंक से लेकर आईएफएफ तक हुए मुरीद, बोले-इंडिया इज डूइंग वेल

पांच राज्यों में चुनाव के पहले अमित शाह ने की दिल्ली वाररूम में मीटिंग: यूपी सबसे बड़ी चुनौती, अजय मिश्र बनें गले की फांस!

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios