Asianet News HindiAsianet News Hindi

Indian Railways ने इस साल खूब की कमाई: रेवेन्यू में 38% की बढ़ोत्तरी, यात्री यातायात का राजस्व 116% बढ़ा

भारतीय रेलवे ने यात्री यातायात में 116 प्रतिशत की बेतहाशा वृद्धि दर्ज की है। यात्री यातायात से राजस्व 25,276.54 करोड़ रुपये था। सालाना आधार पर इस राजस्व में 13,574.44 करोड़ रुपये की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। यह वृद्धि करीब 116 प्रतिशत है।

Indian Railway total revenue increased by 38 percent, total revenue 95,486 crores rupees till August 2022, DVG
Author
First Published Sep 11, 2022, 8:42 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे (Indian Railways revenue increased by 38 percent) खूब कमाई कर रहा है। अगस्त 2022 की समाप्ति तक भारतीय रेलवे के रेवेन्यू में करीब 38 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है। रेलवे का कुल राजस्व 95,486.58 करोड़ रुपये हो गया है। इंडियन रेलवे ने अपने बयान में बताया कि अगस्त 2022 के अंत में भारतीय रेलवे का कुल राजस्व 95,486.58 करोड़ रुपये था। इसमें करीब 26,271.29 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई है। यह बढ़ोत्तरी करीब 38 प्रतिशत है। पिछले वित्त वर्ष (2021-22) के दौरान रेलवे का कुल राजस्व 1,91,278.29 करोड़ रुपये रहा।

रेलवे की कहां-कहां बढ़ गई है कमाई

भारतीय रेलवे ने यात्री यातायात में 116 प्रतिशत की बेतहाशा वृद्धि दर्ज की है। यात्री यातायात से राजस्व 25,276.54 करोड़ रुपये था। सालाना आधार पर इस राजस्व में 13,574.44 करोड़ रुपये की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। यह वृद्धि करीब 116 प्रतिशत है। रेलवे द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार आरक्षित व अनारक्षित दोनों श्रेणियों में पिछले साल की तुलना में राजस्व की बढ़ोत्तरी हुई है। रेलवे ने कहा कि लंबी दूरी की आरक्षित मेल एक्सप्रेस ट्रेनों की वृद्धि यात्री और उपनगरीय ट्रेनों की तुलना में तेज रही है। रेलवे के अनुसार अन्य कोचिंग रेवेन्यू 2,437.42 करोड़ रुपये रहा। यह बढ़ोत्तरी पिछले साल की तुलना में 811.82 करोड़ रुपये है। तुलनात्मक अध्ययन के अनुसार कोचिंग रेवेन्यू में 50 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। 

पार्सल में भी रेलवे की कमाई में बढ़ोत्तरी 

रेलवे ने कहा कि भारतीय रेलवे ने इस साल पार्सल सेवा से भी खूब राजस्व कमाया है। इस साल अगस्त के अंत तक गुड्स रेवेन्यू 10,780.03 करोड़ रुपये से बढ़कर 65,505.02 करोड़ रुपये हो गया है। रेल मंत्रालय के अनुसार इस वृद्धि में कोयला परिवहन के अलावा खाद्यान्न, उर्वरक, सीमेंट, खनिज तेल, कंटेनर यातायात और शेष अन्य सामान के पार्सल्स का विशेष योगदान रहा। जबकि विविध राजस्व 2,267.60 करोड़ रुपये था। पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 1105 करोड़ रुपये या 95 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 

यह भी पढ़ें:

कर्तव्यपथ पर महुआ मोइत्रा का तंज, बीजेपी प्रमुख अब कर्तव्यधारी एक्सप्रेस से जाकर कर्तव्यभोग खाएंगे

भारत-पाकिस्तान बंटवारे में जुदा हुए भाई-बहन 75 साल बाद मिले करतारपुर साहिब में...

दुनिया में 2668 अरबपतियों के बारे में कितना जानते हैं आप, ये है टॉप 15 सबसे अमीर, अमेरिका-चीन का दबदबा बरकरार

किंग चार्ल्स III को अब पासपोर्ट-लाइसेंस की कोई जरुरत नहीं, रॉयल फैमिली हेड कैसे करता है विदेश यात्रा?

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios