Asianet News HindiAsianet News Hindi

Good Idea: तेरे हाथ में मेरा हाथ हो; 11th के स्टूडेंट ने दिव्यांगों के लिए बना दिया कम कीमत वाला ये हाथ

कहते हैं कि जहां चाह, वहां राह! ये हैं ओडिशा के रहने वाले शाश्वत मिश्रा। ये अपने दिव्यांग दोस्तों को देखकर उनकी मदद के लिए कुछ करना चाहते थे। इन्होंने दिव्यांगों के लिए कृत्रिम हाथ(prosthetic hand) बनाया है।

Innovative ideas, 11th student made prosthetic hand for the disabled
Author
Bhubaneswar, First Published Sep 13, 2021, 8:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भुवनेश्वर, ओडिशा. प्रगतिशील विचार(Innovative ideas) सिर्फ आपकी नहीं, आपके करियर या जिंदगी को नई दिशा नहीं दिखाते, बल्कि आपके द्वारा ईजाद चीजें दूसरे के लिए भी किसी वरदान से कम नहीं होतीं। ऐसे ही एक इनोवेटिव आइडियाज से दिव्यांगों की मदद करने आगे आया है 11वीं का छात्र शाश्वत मिश्रा। शाश्वत भुवनेश्वर में रहते हैं। इस छात्र ने दिव्यांगों के लिए कम लागत का कृत्रिम हाथ (prosthetic hand) तैयार किया है।

यह भी पढ़ें-देश में यहां पहली बार ड्रोन से दवाओं की सप्लाई की जा रही, जानें क्या है मेडिसिन फ्रॉम द स्काई प्रोजेक्ट

pic.twitter.com/MWdI4ACVwX

दिव्यांग दोस्तों को की मदद करना चाहते थे
शाश्वत ने ANI को बताया कि कृत्रिम हाथ (prosthetic hand) बनाते वक्त काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। जैसे कौन-से और किस तरह के सामान का इस्तेमाल करना चाहिए, जिससे इसे हल्का और मजबूत बनाया जा सके। आखिर में वे सफल रहे। इसका प्रयोग भी सफल रहा। यह हाथ उन दिव्यांग बच्चों के माता-पिता के लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जो महंगे कृत्रिम हाथ नहीं खरीद सकते थे।

यह भी पढ़ें-कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मदद करेगी सेलाइन गार्गल RT-PCR तकनीकी, ग्रामीण इलाकों को भी फायदा

जयपुर में लगाए जाते हैं कृत्रिम हाथ
बता दें कि कृत्रिम हाथ के मामले में जयपुर दुनिया भर में प्रसिद्ध है। जयपुर के एक वरिष्ठ चार्टर्ड एकांउटेंट एसएल गंगवाल ने अपने माता-पिता की स्मृति में दाखा देवी हनुमानबक्ष चेरिटेबल ट्रस्ट स्थापित किया था। यह ट्रस्ट जरूरतमंदों को कृत्रिम हाथ अपने खर्चे पर उपलब्ध कराता है। तीन साल पहले इस ट्रस्ट का नाम 'गोल्डन बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' में भी दर्ज हुआ था। हालांकि अभी देश में कृत्रिम हाथ उन्हें ही लग सकते हैं, जिनका हाथ कोहनी के नीचे से कटा हो। ये पांच वर्ष से ऊपर के किसी भी व्यक्ति को लगाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें-KBC13: अयांश मदान के इलाज के लिए हॉट सीट पर बैठीं दीपिका-फराह, अमिताभ बोले- 'मैं करूंगा मदद, लोग भी आएं आगे'

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios