Asianet News HindiAsianet News Hindi

AAP के थिंक टैंक पर गिरी गाज, LG ने DDCA के उपाध्यक्ष जैस्मिन शाह को बर्खास्त किया, दफ्तर पर ताला

AAP के थिंक टैंक कहे जाने वाले जैस्मीन शाह को DDCA के उपाध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया गया है। उप राज्यपाल विनय सक्सेना ने शाह को मिलने वालीं सभी सरकारी सेवाओं और सुविधाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। LG ने अफसरों से शाह के दफ्तर फौरन ताला डालने को कहा है। 

Jasmine Shah, Vice President of Dialogue and Development Commission of Delhi, was dismissed, know why LG gave this order kpa
Author
First Published Nov 18, 2022, 9:49 AM IST

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी(AAP) के थिंक टैंक कहे जाने वाले जैस्मीन शाह को दिल्ली संवाद एवं विकास आयोग((Dialogue and Development Commission of Delhi) यानी DDCA के उपाध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया गया है। उप राज्यपाल विनय सक्सेना ने शाह को मिलने वालीं सभी सरकारी सेवाओं और सुविधाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। LG ने अफसरों से शाह के दफ्तर फौरन ताला डालने को कहा है। शाह पर पद का दुरुपयोग करने का आरोप है। कुछ दिन पहले शाह पर ये भी आरोप लगे थे कि वे बतौर AAP प्रवक्ता बयान जारी कर रहे हैं, जबकि पद की गरिमा के हिसाब से वे ऐसा नहीं कर सकते हैं। यानी LG के आदेश के बाद दिल्ली के शामनाथ मार्ग, 33 स्थित डीडीसी के वाइस चेयरमैन के ऑफिस चैंबर को सील कर दिया गया है।

शहजाद पूनावाला ने किया tweet
भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने एक tweet करके लिखा कि AAP द्वारा आफिसियल पोजिशन का दुरुपयोग और लॉ एंड कॉन्स्टीट्यूशन का उल्लंघन करने का एक और उदाहरण! मनीष और सत्येंद्र के बाद अब जैस्मीन; जो एक मंत्री के भत्तों का आनंद लेते हैं और फिर CCS 1964 नियमों के उल्लंघन करते हुए पार्टी प्रवक्ता के रूप में यह दोगुना(लाभ) हो जाता है! सरकारी पद का दुरुपयोग और लूटपाट=AAP

pic.twitter.com/x18assA0Rr

कैबिनेट मिनिस्टर लेवल का है ये पद
LG विनय सक्सेना ने जो लेटर जारी किया है, उसमें जैस्मिन शाह को तत्काल प्रभाव से DDC के वाइस चेयरमैन के तौर पर काम करने और इस पद से जुड़ी मान्य किसी भी लाभ-सुविधा को नहीं लेने को कहा गया है। शाह को 2018 में DDC का वाइस चेयरमैन बनाया गया था। इससे पहले आशीष खेतान इस पद पर थे। उनके इस्तीफे के बाद यह पद खाली हुआ था। यह पोस्ट दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री के पद के स्तर की है। LG ने शाह का सरकारी वाहन और स्टाफ भी तुरंत वापस लेने का आदेश दिया है। DDC को दिल्ली सरकार का थिंक टैंक कहा जाता है। दिल्ली में सरकार बनाने के बाद अरविंद केजरीवाल ने इसका गठन किया था। दिल्ली सरकार ने जनहित से जुड़ी तमाम सरकारी योजनाओं को तैयार करने और उसे लागू करने की जिम्मेदारी डीडीसी को दे रखी है।

अरविंद केजरीवाल को कई अहम मुद्दों पर सलाह देते थे
जैस्मीन शाह को आम आदमी पार्टी का एक प्रमुख नेता माना जाता है। उप राज्यपाल के आदेश के बाद एसडीएम सिविल लाइंस ने डीडीडीसी कार्यालय परिसर को गुरुवार देर रात सील कर दिया। कहा जाता है कि जैस्मीन शाह वर्ष 2016 से दिल्ली सरकार को बजट, ट्रांसपोर्ट जैसे मुद्दों पर सलाह भी देते आ रहे हैं। 

आईआईटी मद्रास से मैकेनिकल इंजीनियर शाह ने कोलंबिया यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ इंटरनेशनल एंड पब्लिक अफेयर्स से भी पढ़ाई की है। शाह नेहरू फुल ब्राइट स्कॉलर भी रहे हैं। शाह के बारे में कहा जाता है कि वे अर्बन गवर्नेंस और पॉलिसी इश्यूज पर एक दशक से ज्यादा का अनुभव रखते हैं।

अक्टूबरमें दिल्ली डायलॉग कमीशन के गठन के 7 साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जैस्मिन शाह के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके डीडीसी की उपलब्धियां गिनाई थीं। वैसे DDCA शुरू से ही विवादों में रहा है। इसमें हुईं नियुक्तियों पर सवाल उठते रहे हैं। LG को भी कई शिकायतें की गईं।

बता दें कि इससे पहले योजना विभाग ने पश्चिमी दिल्ली के सांसद प्रवेश वर्मा की शिकायत के आधार पर शाह को उनके खिलाफ सार्वजनिक पद के दुरुपयोग के आरोपों पर 17 अक्टूबर को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। 

हालांकि अरविंद केजरीवाल दावा करते आए हैं कि केवल कैबिनेट ही डीडीसीडी के उपाध्यक्ष से सवाल कर सकती है, क्योंकि इसने ही उन्हें नियुक्त किया है। उपराज्यपाल के पास कोई पावर नहीं हैं।

यह भी पढ़ें
गुजरात चुनाव में फंस सकती है मेवाणी की वडगाम सीट, कांग्रेस ने निकालने के लिए अपना चुनाव हारे कन्हैया को भेजा
काम की खबर: AIIMS ओपीडी में रजिस्ट्रेशन के लिए आयुष्मान भारत अकाउंट को प्रॉयोरिटी देगा

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios