Asianet News Hindi

JEE मेन्स में असम के टॉपर और उसके पिता समेत 5 गिरफ्तार, फर्जी कैंडिडेट को बैठाकर परीक्षा दिलाने का आरोप

इस साल सितंबर में हुई जॉइंट एंट्रेस एग्जाम (JEE) मेन्स परीक्षा में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है। इस मामले में बुधवार को JEE मेन्स में असम के टॉपर नील नक्षत्र दास और उनके पिता डॉ. ज्योर्तिमय दास को गिरफ्तार किया है। 

JEE Mains 2020: Guwahati doctor, his son who used proxy to top exam arrested KPP
Author
Guwahati, First Published Oct 29, 2020, 12:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुवाहाटी. इस साल सितंबर में हुई जॉइंट एंट्रेस एग्जाम (JEE) मेन्स परीक्षा में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है। इस मामले में बुधवार को JEE मेन्स में असम के टॉपर नील नक्षत्र दास और उनके पिता डॉ. ज्योर्तिमय दास को गिरफ्तार किया है। उनपर आरोप है कि उन्होने दूसरे फर्जी कैंडिडेट को बैठाकर परीक्षा दिलवाई। नक्षत्र ने JEE मेन्स में 99.8% नंबर लाकर असम में टॉप किया था।

इस मामले में नक्षत्र दास और ज्योर्तिमय दास पर अजारा पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है। इन दोनों के अलावा पुलिस ने इस मामले में टेस्ट सेंटर के 3 कर्मचारियों- हेमेंद्र नाथ शर्मा, प्रांजल कलिता और हिरुलाल पाठक को भी गिरफ्तार किया गया।

यह बड़ा घोटाला हो सकता है
पुलिस का मानना है कि यह केस सिर्फ कुछ उम्मीदवारों का नहीं, बल्कि एक बड़ा घोटाला हो सकता है। पुलिस ने बताया कि जांच चल रही है, इस मामले में अभी और गिरफ्तारियां हो सकती हैं। पुलिस सभी आरोपियों को गुरुवार को कोर्ट में पेश करेगी। 

'परीक्षार्थी ने सिर्फ नाम और रोल नंबर भरा'
पुलिस ने बताया कि इस मामले में एग्जाम इनविजिलेटर का भी हाथ है। आरोपी की मदद उसी ने की। आरोपी एग्जाम के दिन सेंटर पर गया था। लेकिन आंसर सीट पर सिर्फ नाम और रोल नंबर भरकर लौट आया। फिर उसकी जगह पर किसी और ने परीक्षा दी। पुलिस ने एग्जाम सेंटर को सील कर दिया। वहीं, मैनेजमेंट से भी जवाब मांगा गया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को भी इस घटना की जानकारी दे दी गई है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios