Asianet News HindiAsianet News Hindi

Kangana Ranaut के 'भिक्षा में मिली आजादी' वाले बयान पर बवाल, आप ने की देशद्रोह का केस दर्ज करने की मांग

आप की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रीति शर्मा मेनन ने तहरीर देते हुए कंगना के कमेंट को "देशद्रोही और भड़काऊ" करार दिया है। 

Kangana Ranaut controversial statement, AAP remarks as seditious and inflammatory, FIR, new updates DVG
Author
Mumbai, First Published Nov 11, 2021, 6:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party ) ने गुरुवार को मुंबई पुलिस (Mumbai Police) से फिल्म अभिनेत्री पद्म पुरस्कार से नवाजी गई कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की शिकायत की है। आप ने तहरीर देकर मांग किया है कि बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ उनकी कथित टिप्पणी के लिए मामला दर्ज किया जाए कि भारत को 2014 में आजादी मिली और 1947 में जो मिला वह "भिक्षा" था। आप की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रीति शर्मा मेनन ने तहरीर देते हुए कंगना के कमेंट को "देशद्रोही और भड़काऊ" करार दिया है। 

मेनन ने एक ट्वीट में कहा, 'आप' रनौत द्वारा दिए गए अपमानजनक बयान की कड़ी निंदा करती है, जिसमें दावा किया गया था कि 1947 की भारत की आजादी 'भीख' थी, न कि वास्तविक आजादी। आप की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य ने कहा, 'आप' रनौत द्वारा दिए गए अपमानजनक बयान की कड़ी निंदा करती है, जिसमें दावा किया गया था कि 1947 की भारत की आजादी 'भीख' थी, न कि वास्तविक आजादी।

एक अन्य ट्वीट में, मेनन ने कहा कि उन्होंने मुंबई पुलिस को एक आवेदन प्रस्तुत किया है, जिसमें भारतीय दंड संहिता की धारा 504, 505 और 124 ए के तहत रनौत के "देशद्रोही और भड़काऊ बयानों" के लिए कार्रवाई का अनुरोध किया गया है।

 

वरुण गांधी ने भी लगाई फटकार

भाजपा के लोकसभा सदस्य वरुण गांधी ने भी रनौत के कमेंट के लिए उन्हें फटकार लगाई है। वरुण गांधी ने कहा कि यह एक राष्ट्र विरोधी कार्य है और इसे इस तरह से बाहर किया जाना चाहिए।

उन्होंने एक नए चैनल कार्यक्रम के दौरान रनौत की टिप्पणी की एक छोटी क्लिप भी पोस्ट की, जिसमें उन्हें हिंदी में यह कहते हुए सुना जा सकता है, "वह स्वतंत्रता नहीं थी, बल्कि 'भिख' (भिक्षा) थी, और स्वतंत्रता 2014 में आई थी।" 

बताया जा रहा है कि कंगना रनौत, जिन्हें हाल ही में पद्म श्री दिया गया है, वह जाहिर तौर पर 2014 में भाजपा के सत्ता में आने का जिक्र कर रहीं थीं। कंगना अतीत में अपनी विवादित  टिप्पणियों और विपक्षी राजनेताओं पर कटाक्ष करके विवादों को जन्म दे चुकी हैं।

कंगना पर पहले भी दर्ज हो चुका है देशद्रोह का केस

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ पहले भी देशद्रोह और भड़काऊ ट्वीट (Tweet) का मामला दर्ज हो चुका है। दरअसल, कंगना ने पिछले साल किसान आंदोलन के दौरान एक ट्वीट किया था, जिसको लेकर काफी बवाल मचा था। कंगना के इन्हीं ट्वीट्स के कारण मुंबई के रहने वाले मुन्नावराली ने एक्ट्रेस और उनकी बहन रंगोली चंदेल के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा बांद्रा पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया था।

इस ट्वीट पर मचा था बवाल 

कंगना ने अपने ट्वीट में लिखा था - उन लोगों ने मराठा गौरव पर एक भी फिल्म नहीं बनाई। इस्लाम के नियंत्रण वाली इस इंडस्ट्री में मैंने अपनी जिंदगी और करियर खतरे में डाला है। मैंने शिवाजी और लक्ष्मीबाई पर फिल्म बनाई है। शिकायतकर्ता का कहना है कि इस तरह के ट्वीट दो समुदायों को भड़काने का काम करते हैं। 

यह भी पढ़ें

Kangna controversy : कंगना की भीख वाली आजादी बयान पर वरुण बोले - इसे पागलपन कहूं या देशद्रोह

Cold War की ओर दुनिया: Jinping का America को चैलेंज, बोले- टकराव या विभाजन की बात न दोहरायी जाए

Defence Industrial Corridor: यूपी में ब्रह्मोस एयरोस्पेस और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड को जमीन आवंटित

MPLAD से रोक हटी, पांच करोड़ की बजाय दो-दो करोड़ रुपये सांसदों को मिलेंगे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios