Asianet News Hindi

कर्नाटक की कोर्ट ने कंगना रनौत के खिलाफ दिया FIR का आदेश, किसानों के आंदोलन पर किया था ट्वीट

कर्नाटक के टुमकुरु जिले की एक अदालत ने कृषि बिल पर प्रदर्शन कर रहे किसानों को ट्वीट के जरिए निशाना साधने के लिए एक्ट्रेस कंगना रनौत पर शुक्रवार को एफआईआर का  निर्देश दिया है।

Karnataka court orders FIR against Kangana Ranaut action on farmers targeting through by tweet kpl
Author
New Delhi, First Published Oct 9, 2020, 9:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कर्नाटक. कर्नाटक के टुमकुरु जिले की एक अदालत ने कृषि बिल पर प्रदर्शन कर रहे किसानों को ट्वीट के जरिए निशाना साधने के लिए एक्ट्रेस कंगना रनौत पर शुक्रवार को एफआईआर का  निर्देश दिया है। वकील एल. रमेश नाइक की तरफ से की गई शिकायत के आधार पर ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट फर्स्ट क्लास (जेएमएफसी) ने क्याथासांद्रा पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर को कंगना के खिलाफ एफआईआर करने को कहा है।

कोर्ट ने कहा कि शिकायतकर्ता ने सीआरपीसी की धारा 155 (3) के तहत आवेदन देकर जांच की मांग की है। वकील नाइक भी क्याथासांद्र से आते हैं, उन्होंने एक्ट्रेस के खिलाफ आपराधिक केस के बारे में एक समाचार एजेंसी से कहा कि कोर्ट ने अधिकार क्षेत्र में आने वाले पुलिस स्टेशन को आदेश दिया है कि कि वे एक्ट्रेस के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू करें।

ट्विटर हैंडल से किया था ये ट्वीट 
कंगना ने 21 सितंबर को अपने ट्विटर हैंडल @KanganaTeam से ट्वीट करते हुए लिखा था- जिन लोगों ने सीएए पर गलत जानकारी और अफवाहें फैलाईं, जिसकी वजह से हिंसा हुई वही लोग अब किसान विरोधी बिल पर पर गलत जानकारी फैला रहे हैं, जिससे राष्ट्र में डर है। वे आतंकी हैं। इसको लेकर वकील एल. रमेश नाइक ने कहा कि इस ट्वीट ने ठेस पहुंचाया है, जिसके चलते उन्हें कंगना रनौत के खिलाफ केस फाइल करने पर मजबूत होना पड़ा है।

सुशांत सिंह राजपूत मामले के बाद चर्चा में हैं कंगना 
एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मौत के बाद अपने बयानों से चर्चा में रहीं कंगना रनौत इसी के चलते महाराष्ट्र सरकार के निशाने पर भी आ गई। कंगना रनौत ने मुंबई पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से कर दी थी। इसके बाद शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत के साथ ट्विटर पर उनकी जुबानी जंग और तेज हो गई थी। कंगना के खिलाफ सुरक्षा खतरा देखते हुए केन्द्र की मोदी सरकार ने उन्हें वाई कैटगरी की सुरक्षा भी मुहैया कराई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios