Asianet News HindiAsianet News Hindi

केरल : पत्नी के सामने Rss कार्यकर्ता की हत्या, BJP ने राज्यपाल से कहा- NIA जांच का आदेश दें

केरल में RSS कार्यकर्ता की पत्नी के सामने हत्या कर दी। घटना के 24 घंटे बाद भाजपा (BJP) ने राज्यपाल से मिलकर इसकी NIA जांच कराने की मांग की है। पार्टी का कहना है कि इस घटना के पीछे SDPI का हाथ है।

Kerala Rss Murder BJP Meet Governor For NIA Probe
Author
Thiruvananthapuram, First Published Nov 16, 2021, 6:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

तिरुवनंतपुरम। केरल के पलक्कड़ जिले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के एक कार्यकर्ता की हत्या (Murder) के एक दिन बाद प्रदेश भाजपा (BJP) ने मंगलवार को राज्यपाल (Governor)आरिफ मोहम्मद खान से मुलाकात। पार्टी ने मामले को नेशनल इंटेलिजेंस एजेंसी (NIA) को सौंपने की मांग की। भाजपा ने आरोप लगाया कि इस दिनदहाड़े हत्या के पीछे इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की राजनीतिक शाखा /सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) के कार्यकर्ताओं का हाथ है। इन्हें राज्य की सरकार का समर्थन हासिल है। 
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के. सुरेंद्रन ने इस संबंध में राज्यपाल को एक ज्ञापन दिया। उन्होंने कहा कि राज्य में कानून के शासन को बनाए रखने और आम आदमी के जीवन एवं संपत्ति की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए राज्यपाल का हस्तक्षेप जरूरी है। मैंने उनसे राज्य सरकार को इस मामले को एनआईए को सौंपने का निर्देश देने की मांग की है। 

पत्नी के सामने की गई थी कार्यकर्ता की हत्या 
27 वर्षीय संजीत की सोमवार सुबह उसकी पत्नी के सामने हत्या कर दी गई थी। सुरेंद्रन ने ज्ञापन में आरोप लगाया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ है कि सुनियोजित हत्या के पीछे विशेष रूप से प्रशिक्षित हमलावर थे। एसडीपीआई 2020 से ही संजीत को निशाना बनाने की फिराक में था, लेकिन राज्य पुलिस उसे पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने में बुरी तरह से विफल रही। यह आपराधिक लापरवाही के अलावा और कुछ नहीं था। 

माकपा और इस्लामी आतंकी संगठनों की मिलीभगत का आरोप 
सुरेंद्रन ने केरल में सत्तारूढ़ माकपा पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि यह साफ हो गया है कि मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और इस्लामी आतंकवादी संगठनों की मिलीभगत है। उनका साझा लक्ष्य दक्षिणी राज्य में राष्ट्रवादी ताकतों का सफाया करना है। पिछले 10 दिनों में राज्य में एसडीपीआई कार्यकर्ताओं ने आरएसएस के दो सदस्यों की हत्या कर दी। उन्होंने मुख्यमंत्री पिनराई विजयन पर एसडीपीआई की राजनीतिक रूप से मदद करने का आरोप लगाते हुए कहा- राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से बाधित हो गई है। पुलिस संजीत की हत्या के 24 घंटे बाद भी किसी को गिरफ्तार करने में विफल रही है।   

यह भी पढ़ें
PM मोदी के सामने वायु सेना ने दिखाई ताकत, Air Show में शामिल विमानों की ये हैं खास बातें

85 साल के पापा Dharmendra से बेटे Sunny Deol ने की एक गुजारिश तो मना नहीं कर पाए ही मैन, खुद देख लीजिए

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios