Asianet News HindiAsianet News Hindi

Mamata Banerjee politics: कांग्रेस को हाशिये पर रखने वाले बयान को लेकर शिवसेना भी दीदी के फेवर में नहीं

भाजपा के खिलाफ विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने में जुटीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) के लिए कांग्रेस को दरकिनार करना टेंशन बन सकता है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना अखबार में एक लेख के जरिये ममता को नसीहत दी है।

Lok Sabha Elections, 2024, Shiv Sena advice to Mamata Banerjee on her controversial statement on Congress KPA
Author
New Delhi, First Published Dec 4, 2021, 12:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. वर्ष, 2024 में आने वाले लोकसभा चुनाव(Lok Sabha Elections 2024) के लिए तैयारियों में जुटीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) को शिवसेना ने नसीहत दी है। दरअसल, भाजपा के खिलाफ विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने में जुटीं ममता के लिए कांग्रेस को दरकिनार करना टेंशन बन सकता है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना अखबार में एक लेख के जरिये ममता को नसीहत दी है। शिवसेना ने लिखा कि कांग्रेस को राष्ट्रीय राजनीति से दूर रखना फासिस्ट ताकतों की मदद करने जैसा है।

शिवसेना ने यह भी नसीहत दी
अपने  मुख्य लेख में शिवसेना ने कहा कि अपने-अपने राज्य और टूटे-फूटे किले संभालने के साथ इस पर सबको एकमत होना भी जरूरी है। इसकी नेतृत्व कौन करेगा, यह आगे का मसला है। शिवसेना ने पश्चिम बंगाल में भाजपा को शिकस्त देने वाली ममता बनर्जी की तारीफ की, लेकिन यह भी कहा कि कांग्रेस को दूर करके सियासत करना फासिस्ट राज की प्रवृत्ति को बल देने जैसा है।

मुंबई में दिए बयान पर छिड़ा हुआ है विवाद
पश्चिम बंगाल में तीसरी बार सरकार बनाने के बाद ममता बनर्जी(Mamta Banerjee) के तेवर आक्रामक हैं। वे 30 नवंबर को दो दिनी दौरे पर मुंबई पहुंची थीं। 1 दिसंबर को वे NCP सुप्रीमो शरद पवार से मुलाकात की थी। भाजपा के खिलाफ तीसरा मोर्चा बनाने में लगीं दीदी कांग्रेस को दरकिनार रखना चाहती हैं, यह पवार को पसंद नहीं आया था। ममता ने सिविल सोसायटी मीटिंग कर समाज के विभिन्न वर्गों से मुलाकात करके भाजपा के खिलाफ लामबंद होने की अपील की थी। ममता ने अपने दौरे के आखिरी दिन नरीमन पॉइंट स्थित वाईबी चव्हाण सेंटर( YB Chavan Centre, Nariman Point) में समाज के विभिन्न वर्गों (Civil society Meeting)के साथ बैठक की थी। इसमें फिल्मी हस्तियों के साथ ही समाजसेवी और अन्य लोग भी शामिल हुए। लोगों से भरे हॉल में ममता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के खिलाफ तमाम मुद्दे उठाए। उन्होंने कहा कि कैसे मोदी सरकार ने उन्हें कलंकित करने और फंसाने की कोशिश की। उन्होंने पीएम केयर्स को एक स्कैंडल बताया। ममता ने कहा कि यदि सभी क्षेत्रीय पार्टियां साथ आती हैं तो भाजपा (BJP) को हराना बेहद आसान होगा। ममता बनर्जी ने मुंबई में कहा था कि कांग्रेस नेतृत्व वाला UPA अब कोई गठबंधन नहीं है। इसका कोई अस्तित्व नहीं है। इसके बाद से वे कांग्रेस के भी निशाने पर हैं। ममता के बयान पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे(Mallikarjun Kharge) ने पलटवार करते हुए कहा था कि ऐसा बयान देकर वे भाजपा की मदद कर रही हैं। 

NCP भी दे चुका है ये प्रतिक्रिया
NCP लीडर और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि हर पार्टी को अपना आधार बढ़ाने का पूरा अधिकार है, लेकिन कांग्रेस को बाहर रखकर भाजपा के विरोधियों को एकजुट करना असंभव है। मलिक ने यह भी कहा कि पवार साहब कई बार यह बात स्पष्ट कर चुके हैं। क्लिक करके पढ़ें पूरी बात

यह भी पढ़ें
mamta banerjee mumbai visit: राष्ट्रगान के वक्त कुर्सी पर बैठी रहीं दीदी; BJP नेता ने पुलिस में की शिकायत
शरद पवार से पॉलिटिकल डिस्कशन के बाद ममता बोलीं- UPA का अब अस्तित्व नहीं , राहुल गांधी को लेकर कही ये बात...
ममता की सिविल सोसायटी मीटिंग में पहुंचे जावेद अख्तर, महेश भट्‌ट! तीसरी लाइन में दिखे कांग्रेसी शत्रुघ्न सिन्हा
Congress V/s Mamata: UPA पर ममता के बयान पर कांग्रेस बोली- ED और CBI के डर से दे रहीं ऐसे बयान

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios