Asianet News HindiAsianet News Hindi

RSS मुख्यालय पर हमले की फिराक में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद, कई संवेदनशील जगहों की कराई रेकी, पुलिस अलर्ट

 जैश ए मोहम्मद से संबंधित एक शख्स के जरिए किये जाने की जानकारी सामने आई है। नागपुर के पुलिस कमिश्नर ने इसका खुलासा किया है। इस खबर के बाद सभी महत्वपूर्ण ठिकानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

maharashtra nagpur jaish e mohammed conducts recce rss headquarter stb
Author
Nagpur, First Published Jan 7, 2022, 7:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नागपुर : आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (jaish e mohammed) किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में है। उसके टारगेट पर महाराष्ट्र (maharashtra) के नागपुर (nagpur) में RSS मुख्यालय समेत कई अहम ठिकाने है। जैश ए मोहम्मद से संबंधित एक शख्स के जरिए किये जाने की जानकारी सामने आई है। नागपुर के पुलिस कमिश्नर ने इसका खुलासा किया है। इस खबर के बाद सभी महत्वपूर्ण ठिकानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

कई स्थानों की हुई रेकी
नागपुर के पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने बताया कि संघ के रेशिमबाग में मौजूद डॉ. हेडगेवार स्मृति मंदिर परिसर के अलावा अन्य संवेदनशील स्थानों की रेकी की गई है। जैश ए मोहम्मद से संबंधित एक शख्स के जरिए ये रेकी की गई है। उससे पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है। इस खुफिया जानकारी के बाद संघ के रेशिमबाग कार्यालय के साथ-साथ संघ मुख्यालय की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। 

पूछताछ में खुलासा
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) का रहने एक युवक जुलाई 2021 को नागपुर में था। पाकिस्तान (Pakistan) में मौजूद आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के इशारे पर उसने नागपुर में संघ के कार्यालय की रेकी करने की कोशिश की थी। हाल ही में यह युवक कश्मीर में पम्पोर पुलिस स्टेशन क्षेत्र में ग्रेनेड के साथ पकड़ा गया। रेकी करने वाले युवक से पूछताछ करने पर इस इस संबंध में बड़ी बात सामने आई। फिलहाल उससे अन्य जानकारी हासिल करने की कोशिश की जा रही है।

पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा
पुलिस कमिश्नर ने बताया कि संघ मुख्यालय परिसर और उसके आस-पास सुरक्षा बढ़ा दी गई है। यहां फोटोग्राफी और ड्रोन उड़ाने पर भी रोक लगा दी गई है। इसी तरह से अहम ठिकानों को लेकर भी पुलिस पूरी तरह अलर्ट है। उन्होंने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े आतंकियों ने करीब दो-तीन महीने पहले नागपुर में रेकी की थी। इसके बारे में अधिकारियों को बाद में पता चली।

इसे भी पढ़ें-Punjab में धार्मिक स्थलों का सौहार्द बिगाड़ने वाले गिरोह के 3 सदस्य गिफ्तार, कनाडा से जुड़े हैं तार..

इसे भी पढ़ें-फिरोजपुर में जहां पीएम का काफिला रोका गया वहां से 50 किमी दूर सतलुज नदी में मिली संदिग्ध नाव, BSF कर रही जांच

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios