Asianet News HindiAsianet News Hindi

महबूबा हाउस अरेस्ट, मेन गेट रोककर खड़ी CRPF की गाड़ी और ताले के फोटो ट्वीट किए

पीडीपी (PDP) अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (Mehbooba mufti) को प्रशासन ने घर में नजरबंद (House arrest) कर दिया है। उन्होंने इसके कुछ फोटो ट्वीट कर आरोप लगाए हैं। हालांकि, इस मामले पर प्रशासन की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। सुबह एक पुलिस अधिकारी ने जरूर नजरबंदर करने की खबरों का खंडन किया था।

Mehbooba Mufti House arrest Jammu Kashmir Police Terrorist Attacak PDP
Author
Srinagar, First Published Nov 18, 2021, 5:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष (PDP) महबूबा मुफ्ती (Mehbooba mufti) ने गुरुवार को आरोप लगाया कि प्रशासन ने उन्हें फिर से नजरबंद (House arrest) कर दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी के दो कार्यकर्ताओं को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। महबूबा ने ट्वीट किया- फिर से मुझे घर पर नजरबंद रखा गया है और पीडीपी के साकिब और सुहैल बुखारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। निर्दोष नागरिकों को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल करना और फिर उनके परिजन को अंतिम संस्कार की अनुमति नहीं देना, यह दर्शाता है कि केंद्र सरकार (Central government) अमानवीयता की नई गहराई तक पहुंच रही है। 
महबूबा ने अपने गुप्कर घर के मेन गेट (Gate) पर लगा हुआ ताला (Lock)और दरवाजे के बाहर खड़े एक सुरक्षा बंकर की भी तस्वीरें शेयर की हैं। उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा- उनकी (प्रशासन) कहानी शुरू से ही जवाबदेही से बचने के लिए झूठ पर आधारित रही है। वे अपने कामों के लिए जवाब नहीं देना चाहते हैं और इसलिए वे ऐसे अन्याय और अत्याचारों के खिलाफ उठाए जाने वाली आवाजों को दबा रहे हैं। इससे पहले सुबह एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया था एक प्रदर्शन में शामिल होने के लिए श्रीनगर में महबूबा मुफ्ती प्रेस कॉलोनी जा रही थीं, इसलिए उन्हें रोका गया था। उन्हें नजरबंद नहीं किया गया है। 
 

mehbooba

महबूबा ने मुठभेड़ पर उठाए थे सवाल 

जम्मू-कश्मीर के हैदरपोरा इलाके में हुई मुठभेड़ अभी विवादों से घिरा हुआ है। इसमें चार लोगों की मौत हो गई है, जिनमें से दो के परिवारवालों ने मारे गए परिजनों को निर्दोष करार दिया है। मामले को तूल पकड़ता देख सरकार ने घटना की मजिस्ट्रेट जांच (Inquary) के आदेश दिए हैं। सोमवार रात हुई इस मुठभेड़ की घटना में पुलिस (Police) ने मारे गए लोगों में से दो को आतंकवादी (Terrotist)और तीसरे को इनका सहयोगी करार दिया है। सूत्रों के मुताबिक घटनास्थल से तीन शव बरामद किए गए हैं। इनमें से एक की पहचान आतंकवादी समीर तांत्रे के रूप में हुई है, जो पुलवामा (Pulwama)जिले के त्राल (Tral) का रहने वाला है। दूसरा काजीगुंड जिले के बनिहाल (Banihal) का रहने वाला हाइब्रिड आतंकवादी आमिर है और तीसरे की पहचान अल्ताफ के रूप में की गई है। अल्ताफ को आतंकियों का सहयोगी बताया जा रहा है। अल्ताफ हैदरपोरा में ही सीमेंट की एक दुकान चलाता था। 

क्या हैं हाईब्रिड आतंकी 
हाइब्रिड आतंकवादी (Bybrid Terrorist) उन्हें कहा जाता है, जो वैसे तो आधिकारिक रूप से किसी आतंकवादी संगठन का हिस्सा नहीं होते, लेकिन आतंकवादियों के मददगार होते हैं। ये आतंकियों साजो-सामान, रसद और पैसे के अलावा पुलिस और सुरक्षाबलों के मूवमेंट और गतविधियों की जानकारी देते हैं। ये आतंकियों को तकनीकी तौर पर भी मदद मुहैया कराते हैं। 

यह भी पढ़ें
बिना मेकअप और अजीबोगरीब हालत में नजर आई Malaika Arora तो इधर पापा-चाची संग दिखी Karisma Kapoor

क्या Nita Ambani 42 लाख रु. की बोतल में पानी पीती हैं? जानें क्या है वायरल मैसेज का सच
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios