नई दिल्ली. केंद्रीय कैबिनेट ने कोरोना संकट के मद्देनजर घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। इसके बाद कई योजनाओं को हरी झंडी दी। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, आज की कैबिनेट की बैठक के दौरान महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए, जो कि प्रवासियों, वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण, ऋण की आसान उपलब्धता, मत्स्य पालन क्षेत्र में अवसरों को भुनाने  पर केंद्रित हैं। ये फैसले कई नागरिकों को लाभान्वित करेंगे।

मछली पालन के क्षेत्र में आएगी क्रांति
पीएम मोदी ने मंत्रिमंडल की मीटिंग में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना पर जानकारी दी। उन्होंने कहा, यह योजना मत्स्य पालन के क्षेत्र में क्रांति लाएगा। योजना के तहत अत्याधुनिक तकनीक और आधारभूत ढांचे का विकास होगा। वहीं वित्तीय सहायता भी मुहैया कराई जाएगी। पीएम ने कहा, हमारे कठोर परिश्रमी मछुआरों को इसका भरपूर लाभ मिलेगा।

किन योजनाओं को हरी झंडी
कैबिनेट ने आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) की शुरुआत कर तीन लाख करोड़ रुपए तक की अतिरिक्त फंडिंग, एनबीएफसी/एचएफसी की नकदी की समस्या के समाधान के लिए विशेष नकदी योजना, प्रवासियों/फंसे हुए प्रवासियों के लिए खाद्यान्नों के आवंटन के लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज को स्वीकृति दी।

देश में कोरोना के 1 लाख से ज्यादा केस
देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 लाख के पार पहुंच गई है। 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है। पिछले कुछ दिन से रोजाना औसतन 4 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। अगर इसी रफ्तार से संख्या बढ़ती रही, तो जून के पहले हफ्ते तक मरीजों की संख्या 2 लाख से ज्यादा होने का अंदेशा है।