Asianet News Hindi

'जैश उल हिंद' ने छोड़ी थी अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी गाड़ी, 'इजरायल दूतावास ब्लास्ट' में था हाथ

दुनिया के टॉप-10 रईसों में शुमार रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक सामग्री से भरी मिली संदिग्ध कार को लेकर नया खुलासा हुआ है। इसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश उल हिंद ने ली है। ये वही संगठन है, जिसने 29 जनवरी को दिल्ली में इजरायल दूतावास के बाहर ब्लास्ट किया था।
 

Mukesh Ambani case, who is this terrorist organization Jaish ul Hind kpa
Author
Mumbai, First Published Feb 28, 2021, 8:45 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. दुनिया के टॉप-10 अमीरों में शुमार रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित घर एंटीलिया के बाहर मिली संदिग्ध कार के मामले में नया खुलासा हुआ है। इसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश उल हिंद ने ली है। इसी संगठन ने 29 जनवरी को दिल्ली में इजरायल दूतावास के बाहर हुए ब्लास्ट का जिम्मा लिया था। माना जा रहा है कि यह संगठन अपना आतंक फैलाने ऐसा कर रहा है।

आतंकी संगठन ने टेलीग्राम ऐप के जरिये इसकी जिम्मेदारी ली। इस संगठन पर बिटकॉइन से पैसे के भी डिमांड की जा चुकी है। आतंकी संगठन ने मैसेज में लिखा कि रोक सकते हो तो रोक लो तुम कुछ नहीं कर पाओगे। हमने तुम्हारी नाक के नीचे दिल्ली में हिट किया था, तुमने मोसाद के साथ हाथ मिलाया, लेकिन तुम लोग फेल हो गए। मैसेज के आखिर में लिखा हैकि पहले भी बोला गया था कि बस पैसे ट्रांसफर कर दो।

पहले जानते हैं अंबानी का मामला...
25 फरवरी को एंटीलिया के बाहर एक संदिग्ध स्कॉर्पियो कार मिली थी। इसमें 20 जिलेटिन की छड़े मिलीं थीं। यह विस्फोट मकान तोड़ने या खदानों में इस्तेमाल किया जाता है। इस गाड़ी की नंबर प्लेट अंबानी की गाड़ियों से मिलती जुलती थी। इस मामले में क्राइम ब्रांच को मुलुंड टोल प्लाजा के सीसीटीवी कैमरे में संदिग्ध कार का फुटेज मिला था। जांच में सामने आया है कि स्कॉर्पियो के साथ एक इनोवा भी थी। स्कॉर्पियो एंटीलिया के बाहर छोड़कर उसका ड्राइवर इनोवा से ही वहां से गया था। इस मामले में पुलिस ने अब तक 25 से ज्यादा लोगों के बयान दर्ज किए हैं। इस घटना की जिम्मेदारी अब आतंकी संगठन जैश उल हिंद ने ली है।

इजरायल दूतावास के बाद कुख्यात हुआ जैश उल हिंद
दिल्ली के लुटियंस इलाके में औरंगजेब रोड स्थित इजरायली दूतावास के बाहर 29 जनवरी को ब्लास्ट हुआ था। उस समय यहां से कुछ दूर बीटिंग रीट्रिट कार्यक्रम चल रहा था। इस घटना की जिम्मेदारी भी जैश उल हिंद ने ली थी। हालांकि यह किस तरह का आतंकी संगठन है, क्या कोई स्लीपर सेल है, अभी पता नहीं चल सका है। इस मामले को ईरान के सैन्य कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या से जोड़कर देखा जा रहा था।

यह भी पढ़ें

Mukesh Ambani के केस में खुलासा, क्राइम ब्रांच ने स्कॉर्पियो लाने वाले का लगाया पता, सामने आया फुटेज

एंटिलिया केस: ढाई घंटे तक बैठकर इंतजार करता रहा, जैसे ही मौका मिला गाड़ी छोड़कर भाग गया

वर्ल्ड के टॉप-10 रईसों में शामिल अंबानी का 27 मंजिला घर फिर से सुर्खियों में, जानिए इसकी खासियत

1 महीने तक रेकी, स्टाफ का कार नंबर जुगाड़ा...ऐसे रची Ambani के घर के बाहर विस्फोटक रखने की साजिश

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios